मुस्लिम ने पढ़ी रामायण-गीता तो मुसलमानों ने कर दी पिटाई

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के गोश्त वाली गली निवासी दिलशाद ने गुरुवार को पुलिस से शिकायत की. शिकायत में उसने अपने ही धर्म के लोगों पर रामायण व गीता का पाठ करने से रोकने, गाली-गलौज करने व मारपीट करने का आरोप लगाया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 9:42 PM IST
मुस्लिम ने पढ़ी रामायण-गीता तो मुसलमानों ने कर दी पिटाई
रामायण और गीता का पाठ करने पर मुस्लिमों ने अलीगढ़ निवासी दिलशाद को पीटा.
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 9:42 PM IST
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के गोश्त वाली गली निवासी दिलशाद ने गुरुवार को पुलिस से शिकायत की. शिकायत में उसने अपने ही धर्म के लोगों पर रामायण व गीता का पाठ करने से रोकने, गाली-गलौज करने व मारपीट करने का आरोप लगाया है.

दिलशेर के मुताबिक घटना गुरुवार सुबह नौ बजे की है. दिलशाद का आरोप है कि गुरुवार सुबह जब वह ड्यूटी करके घर लौटा और स्नान करके अपने घर में रामायण और गीता का पाठ करने बैठा तभी समीर और जाकिर सहित अन्य लोग घर में घुस आए और रामायण और गीता का पाठ करने से मना करते हुए गाली-गलौज करने लगे. इसके बाद आरोपी धार्मिक ग्रंथों को भी अपने साथ ले गए और पीड़ित के वाद्ययंत्र के साथ-साथ घर में तोड़-फोड़ कर गए.



आरोपियों ने दिलशाद से कहा कि अगर यहां पाठ किया तो जान से मार देंगे. दबंग रामायण भी साथ ले गए. दिलशेर ने इस वारदात की सूचना सिक्योरिटी एजेंसी के सुपरवाइजर को दी तो उन्होंने पुलिस में शिकायत करने की सलाह दी. दिलशाद से देहली गेट थाने पहुंचकर अपनी पीड़ा बताई. इस खबर से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. मामला एसएसपी तक पहुंच गया, उसके बाद पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है.
Loading...




'मैं किसी भी कीमत पर पाठ करना नहीं छोडूंगा, चाहे मुझे अलीगढ़ छोड़ना पड़े'
दिलशाद ने बताया कि, ‘मैं 1979-1980 से यह पाठ कर रहा हूं. मैं किसी भी कीमत पर यह पाठ करना नहीं छोडूंगा, चाहे मुझे अलीगढ़ छोड़ना पड़े’. गुरुवार को शिकायत लेकर एसएसपी ऑफिस आए दिलशाद ने मीडियाकर्मियों के कहने पर कुछ धार्मिक चौपाइयां भी सुनाईं. सीओ सिटी विशाल पाण्डेय का कहना है कि शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

राम भक्त संगठन के कार्यकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन
हिंदुस्तान में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार को लेकर श्री राम भक्त संगठन के लोगों ने एसीएम फर्स्ट तपेंद्र सिंह को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा है. ज्ञापन में कहा गया है कि जिस तरह से हिंदुस्तान में रह रहे हिंदुओं पर गैर समुदाय के लोग अत्याचार कर रहे हैं और हिंदू अपने घरों को छोड़कर दूसरी जगह पर पलायन करने को मजबूर हो गए हैं. इसके कारण भारत में हिंदुओं पर अत्याचार की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं. हिंदुओं पर हो रही अत्याचार की घटनाओं को लेकर श्री राम भक्त संगठन के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर एसीएम फर्स्ट को ज्ञापन सौंपा.

रिपोर्ट – प्रशांत कुमार

ये भी पढ़ें - 
First published: July 5, 2019, 9:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...