होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /AMU में 'आजादी' के नारे लगाने पर सरकार सख्त, आतंकी मन्नान के करीबियों की होगी जांच

AMU में 'आजादी' के नारे लगाने पर सरकार सख्त, आतंकी मन्नान के करीबियों की होगी जांच

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी

जानकारी के अनुसार जांच टीम ने सुरक्षा गार्डों द्वारा तैयार किए गए वीडियो फुटेज मांगे हैं. कहा जा जा रहा है कि एसआईअी आत ...अधिक पढ़ें

    अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आतंकी मन्नान वानी को शहीद घोषित कर नमाज-ए-जनाजा पढ़ने और 'आजादी' के नारे लगाने के मामले में प्रदेश सरकार ने सख्त रुख अपनाया है. मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है. सीओ सिवि​ल लाइंस जांच टीम का नेतृत्व करेंगे. टीम में एक एसएचओ सहित तीन अधिकारी शामिल किए गए हैं. जानकारी के अनुसार जांच टीम ने सुरक्षा गार्डों द्वारा तैयार किए गए वीडियो फुटेज मांगे हैं. कहा जा जा रहा है कि एसआईअी आतंकी मन्नान वानी के एएमयू में रहे करीबियों की भी जांच करेगी.

    इससे पहले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी प्रशासन ने आज़ादी-आज़ादी के नारे लगने का वीडियो वायरल होने के बाद एएमयू प्रशासन ने 9 छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. आतंकी मन्नान वानी के मारे जाने के बाद श्रद्धांजलि सभा का आयोजन भी वहां किया गया. हालांकि विश्वविद्यालय प्रशासन ने जिम्मेदार छात्रों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया है. छात्रों पर आरोप है कि आतंकी मन्नान वानी के कश्मीर में मारे जाने के बाद कैंपस में कुछ छात्र आजादी-आजादी के नारे लगा रहे थे.
    बता दें कि इससे पूर्व पिछले दिनों मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर हुए विवाद के बाद एएमयू पहुंचे कश्मीरी छात्रों ने आजादी के नारे लगाए थे.

    जानकारी के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में गुरुवार को सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया था. मारे गए आतंकियों में से एक अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के स्कॉलर से हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी बना मन्नान बशीर वानी भी था. जैसे ही मन्नान के मारे जाने की खबर एएमयू पहुंची तो कुछ छात्रों ने उसे शहीद घोषित कर नमाज-ए-जनाजा पढ़ने की कोशिश की, जिस पर बवाल हो गया. इसके बाद अनुशासनहीनता में तीन छात्रों को निलंबित कर दिया गया. जबकि चार छात्रों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है.

    दरअसल, सोशल मीडिया पर गुरुवार को साढ़े तीन बजे कैनेडी हॉल परिसर में नमाज-ए-जनाजा के आयोजन की सूचना दी गई थी. निर्धारित समय पर कश्मीर के करीब 150 छात्र जमा हो गए. सीनियर छात्रों ने इसका विरोध किया. सूचना पर प्रोक्टोरिअल बोर्ड भी मौके पर पहुंचा. इस दौरान कश्मीरी छात्रों की उनसे नोकझोंक भी हुई थी.

    ये भी पढ़ें: 

    AMU कैंपस में 'आजादी' के नारे लगाने वाले 9 छात्रों को नोटिस

    संभल: ठांय-ठांय की आवाज पर बोले एसपी- पुलिसकर्मियों को दी जाएगी ट्रेनिंग

    बरेली: सुहागरात के दिन दूल्हा निकला किन्नर, पत्नी ने दर्ज कराई FIR

    आपके शहर से (अलीगढ़)

    अलीगढ़
    अलीगढ़

    Tags: Aligarh Muslim University, Aligarh news, Up news in hindi, Uttarpradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें