अलीगढ़ में कुछ छात्र नेताओं की घोषणा, वो बुर्के और टोपी में कॉलेज आएंगे तो हम भगवा वस्त्र पहनकर जाएंगे
Aligarh News in Hindi

अलीगढ़ में कुछ छात्र नेताओं की घोषणा, वो बुर्के और टोपी में कॉलेज आएंगे तो हम भगवा वस्त्र पहनकर जाएंगे
फाइल फोटो- डीएस कॉलेज में छात्र नेताओं ने चीफ प्रोक्टर को ज्ञापन देकर मांग की है कि कॉलेज में बुर्का और टोपी बैन की जाए.

बुर्का और टोपी पहनकर आने वाले छात्र-छात्राओं को बैन करने की आवाज़ उठाई है. वहीं ऐसा न होने पर खुद भगवा (Saffron) वस्त्र पहनकर कॉलेज में आने का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 4:35 PM IST
  • Share this:
अलीगढ़.  एक बार फिर से बुर्का (Burqa) और टोपी (Topi) चर्चाओं में है. अलीगढ़ (Aligarh) के धर्म समाज (डीएस) कॉलेज में छात्र नेताओं ने एक अजीब ओ गरीब ऐलान किया है. छात्र नेताओं ने कॉलेज में बुर्का और टोपी पहनकर आने वाले छात्र-छात्राओं को बैन करने की आवाज़ उठाई है. वहीं ऐसा न होने पर खुद भगवा (Saffron) वस्त्र पहनकर कॉलेज में आने का ऐलान किया है. अभी कुछ दिन पहले यूपी (UP) के ही एक कॉलेज प्रशासन ने लड़कियों के बुर्का पहनकर कॉलेज आने पर रोक लगा दी थी.
छात्र नेताओं ने कॉलेज को यह दिया है अल्टीमेटम
छात्र नेता अमित गोस्वामी ने न्यूज18 हिन्दी से बातचीत में कहा, “अलीगढ़ में डीएस कॉलेज हो या फिर टीआर और वार्ष्णाय कॉलेज, सभी में ड्रेस कोड लागू हो. बावजूद इसके कुछ छात्र-छात्राएं धर्म विशेष से जुड़ा बुर्का या टोपी पहनकर आते हैं. बुधवार को डीएस कॉलेज के चीफ प्रॉक्टर मुकेश भारद्वाज को हमने इस संबंध में एक ज्ञापन दिया है. हमारी मांग है कि आने वाले 72 घंटे में कॉलेज परिसर में बुर्का और टोपी प्रतिबंधित की जाए. इतना ही नहीं किसी को भी दोपहर 3 बजे तक कॉलेज परिसर के अंदर बुर्के और टोपी में एंट्री न दी जाए.”
अन्य कॉलेजों के लिए भी छात्र नेताओं ने यह दी चेतावनी
छात्र नेता अमित गोस्वामी का कहना है, “अभी हमने डीएक कॉलेज के चीफ प्रॉक्टर को ज्ञापन सौंपा है. मंगलवार और बुधवार को दो अन्य कॉलेजों में भी इस संबंध में ज्ञापन दिया जाएगा. मांग की जाएगी कि यहां भी बुर्का और टोपी को बैन किया जाए. अगर अलीगढ़ के तीनों कॉलेज में ऐसा नहीं होता है तो अन्य छात्र भगवा वस्त्र पहनकर आना शुरु कर देंगे.”

फोटो- बुर्का और टोपी को कॉलेज में बैन करने की मांग के संबंध में ज्ञापन सौंपते छात्र नेता.




खुद बुर्का और टोपी उतरवाने की कही बात
छात्र नेता अमित गोस्वामी का कहना है, “अगर कॉलेज प्रशासन हमारी मांगों पर गौर नहीं करते हैं और 72 घंटे में बुर्का और टोपी बैन नहीं किया जाता है तो उसके बाद कॉलेज की दूसरी छात्राएं बुर्का पहनकर कॉलेज आने वाली छात्राओं के बुर्का उतरवाएंगी और छात्रों की टोपी अन्य छात्र उतरवाएंगे.”
एएमयू में भी करेंगे यह मांग
अमित गोस्वामी ने न्यूज18 हिन्दी से कहा है, “शहर के तीन बड़े कॉलेज में बुर्का और टोपी बैन करने के साथ ही हम डीएम से मिलकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी धार्मिक पहचान के वस्त्र बुर्का और टोपी को बैन कराने की मांग करेंगे. अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर एएमयू में भगवा वस्त्र पहनकर और टीका लगाकर आने वाले दूसरे छात्रों को सुरक्षा देने की मांग की जाएगी.”

फोटो- बुर्का और टोपी को कॉलेज में बैन करने की मांग के लिए यह ज्ञापन सौंपा गया है.


यह बोले डीएस कॉलेज के चीफ प्रॉक्टर
न्यूज18 हिन्दी ने डीएस कॉलेज के चीफ प्रॉक्टर मुकेश भारद्वाज से इस बारे में बात की तो उनका कहना है, “हमारे कॉलेज में एक ड्रेस कोड लागू है. सभी छात्र-छात्राएं उसी ड्रेस कोड में कॉलेज आते हैं. जो छात्राएं बुर्के में आती हैं तो उनके लिए एक कॉमन रूम है वो वहां जाकर अपना बुर्का चेंज कर लेती हैं और ड्रेस कोड में ही क्लास के अंदर बैठती हैं. कॉलेज में इस वक्त दखिले की मेरिट लिस्ट लगी हुई है तो उसे देखने के लिए बहुत सारे लोग आ रहे हैं. कौन किस ड्रेस में लिस्ट देखने आ रहा है इस पर हम कोई रोक नहीं लगा सकते.”



ये भी पढ़ें:- 

बैकफुट पर ट्रैफिक पुलिस, अब 15 दिन तक नहीं कटेंगे वाहनों के चालान!

चालान की रकम देखकर वाहन छोड़ा तो ऐसे में देनी पड़ सकती है दोगुनी पेनल्टी

जहां गाय पर बोल रहे थे PM मोदी, वहां ऐसे चलती है देश की सबसे गौशाला, 45 हजार हैं गोवंश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading