एक संगठन ने आर्य समाज मंदिर में शादी करने से प्रेमी जोड़े को रोका

युवती अलीगढ़ की रहने वाली है. वहीं, युवक दिल्ली का रहने वाला है. फेसबुक के जरीय दोनों के बीच दोस्ती हुई थी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 11, 2019, 11:47 AM IST
एक संगठन ने आर्य समाज मंदिर में शादी करने से प्रेमी जोड़े को रोका
मंदिर में शादी की तैयारी ( प्रतीकात्मक फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 11, 2019, 11:47 AM IST
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां आर्य समाज के मंदिर में शादी करने आए एक प्रेमी जोड़े को हिन्दू संगठन के लोगों ने रोक दिया. इसके बाद हिन्दू संगठन के लोगों ने लड़की के पिता को बुलाया और मामले की जानकारी दी. अपनी बेटी को प्रेम विवाह करते देख पिता के होश उड़ गए. हालांकि, कई घंटों के हंगामे के बाद प्रेमी युवक को मौके से भगा दिया गया और लड़की को हिदायत देकर पिता के साथ भेजा गया.

जानकारी के मुताबिक, युवती अलीगढ़ की रहने वाली है. वहीं, युवक दिल्ली का रहने वाला है. फेसबुक के जरीय दोनों के बीच दोस्ती हुई थी. इसके बाद धीरे-धीरे दोस्ती प्यार में बदल गई. फिर दोनों ने साथ-साथ जीने मरने की कसमें भी खा लीं. खास बात यह है कि दोनों की इस लव स्टोरी की खबर परिवार को बिल्कुल नहीं थी. इसी दौरान दोनों ने विवाह करने की भी ठान ली.

आर्य समाज मंदिर में सात फेरे लेने की थी तैयारी
इसके बाद दोनों प्रेमी जोड़े अलीगढ़ स्थित आर्य समाज के मंदिर में सात फेरे लेने के लिए मंगलवार का दिन तय किया. कहा जा रहा है कि दोनों ने मंदिर कमेटी को 8 हजार रुपये देकर शादी के मंजूरी भी ले ली थी. मंगलवार को जब शादी की प्रक्रिया चल रही थी तभी खबर मिलते ही मौके पर हिन्दूवादी संगठन के लोग आ गए, जिन्होंने धांधली के खिलाफ आवाज उठाई और शादी का विरोध किया. साथ ही लड़की के परिजनों को भी सूचना दी.

बिना जांच के विवाह का सर्टिफिकेट देने को लेकर याचिका दायर की गई है
बता दें कि इसी हफ्ते छत्तीसगढ़ के बिलासपुर सहित प्रदेश भर के आर्य समाज मंदिर में महज घण्टो भर में शादी के बाद 10 हजार शुल्क लेकर बिना जांच के विवाह का सर्टिफिकेट देने को लेकर याचिका दायर की गई थी. एक बेटी के पिता ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी. याचिका में कहा गया है कि वे आर्य समाज मंदिर द्वारा कराई जा रहे शादी के खिलाफ नहीं हैं, पर प्रदेश भर में 104 आर्य समाज मंदिर हैं, जिनके अधिकांश रजिस्टर्ड नहीं हैं.

10 हजार रुपए में शादी करा कर दे देते हैं सर्टिफिकेट
Loading...

पिता ने याचिका में कहा कि घंटे भर में 10 हजार रुपये लेकर शादी करा कर सर्टिफिकेट दे देते हैं. यह प्रक्रिया गलत है, जबकि शादी के पहले युवक-युवतियों की किसी शासकीय कमेटी द्वारा जांच करानी चाहिए. पिता ने कहा था कि ऐसे कई मामले भी सामने आए हैं, जब लड़का बाहर से आकर शादी कर लेता है और महाराष्ट्र और अन्यत्र कहीं ले जाकर लड़की को छोड़ देता है. इसमें से अधिकांश मामला मानव तस्करी का भी सामने आता रहा है.

ये भी पढ़ें- 

एक्‍सप्रेसवे हादसा: झपकी नहीं यह है एक्सीडेंट की बड़ी वजह

हरदोई पुलिस का कारनामा: हिन्दू युवक को कब्रिस्तान में दफनाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 11, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...