होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Chharra Assembly Seat: ठाकुर बहुल सीट छर्रा में इस बार किस ओर बह रही चुनावी हवा

Chharra Assembly Seat: ठाकुर बहुल सीट छर्रा में इस बार किस ओर बह रही चुनावी हवा

UP Chunav 2022: ठाकुर मतदाता बहुल छर्रा सीट पर रोचक होगा चुनावी संग्राम.

UP Chunav 2022: ठाकुर मतदाता बहुल छर्रा सीट पर रोचक होगा चुनावी संग्राम.

Chharra Assembly Seat: छर्रा विधानसभा सीट पर दो चुनाव हो चुके हैं. 2012 में सपा जीती थी. वर्तमान में भाजपा के विधायक है ...अधिक पढ़ें

अलीगढ़. 2008 में परिसीमन से पहले यह विधानसभा सीट गंगीरी नाम से जानी जाती थी. तब इस सीट पर यादवों का दबदबा था. परिसीमन के बाद यादव बहुल इलाके अतरौली विधानसभा का हिस्‍सा हो गए, जबकि कोल विधानसभा क्षेत्र का ठाकुर बहुल इलाका मिलाकर नया विधानसभा क्षेत्र बना, जिसे छर्रा नाम दिया गया. छर्रा विधानसभा सीट पर पहला चुनाव 2012 में हुआ था, जिसमें सपा जीती थी. 2017 के चुनाव में भाजपा ने परचम फहराया. दोनों ही पार्टियों के उम्‍मीदवार क्षत्रिय समाज से थे.

पहले चुनाव में कुल 24 उम्‍मीदवार मैदान में थे. मुख्‍य मुकाबला समाजवादी पार्टी के ठाकुर राकेश कुमार और बसपा के मूलचंद बघेल के बीच हुआ था. बाजी राकेश कुमार के हाथ लगी थी. वर्तमान में भाजपा विधायक ठाकुर रवेंद्र पाल सिंह तब कल्‍याण सिंह की जनक्रांति पार्टी से चुनावी मैदान में उतरे थे और तीसरे नंबर पर थे. भाजपा उम्‍मीदवार राम सिंह को पांचवें स्‍थान पर संतोष करना पड़ा था.

जनक्रांति पार्टी के भाजपा में विलय के बाद 2017 में रवेंद्र पाल सिंह भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े और सपा प्रत्‍याशी राकेश कुमार को 56 हजार से अधिक मतों से मात दी. इस चुनाव में कुल 15 उम्‍मीदवार चुनावी मैदान में थे. 10 उम्‍मीदवारों को नोटा से भी कम वोट मिले थे. 3.60 लाख मतदाताओं वाले छर्रा विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 80 हजार वोटर क्षत्रिय समाज से हैं. मुस्‍लिम 35 हजार, यादव व जाटव वोटर करीब 30-30, लोधी 25 हजार और ब्राह्मण वोटरों की संख्‍या करीब 20 हजार है.

आपके शहर से (अलीगढ़)

अलीगढ़
अलीगढ़

Tags: Aligarh news, UP Election 2022, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें