Aligarh News: साध्वी प्राची के मस्जिद में हवन के ऐलान से मचा हड़कंप, गांव में पुलिस फोर्स तैनात

नूरपुर गांव में दो समुदायों के बीच झगड़े का मामला तूल पकड़ता जा रहा है.

नूरपुर गांव में दो समुदायों के बीच झगड़े का मामला तूल पकड़ता जा रहा है.

Aligarh News: यूपी के अलीगढ़ के टप्पल थना क्षेत्र के नूरपुर में दो समुदायों में विवाद के बाद वीएचपी नेत्री साध्वी प्राची (Sadhvi Prachi) के गांव की मस्जिद में हवन करने के ऐलान ने प्रशासन की टेंशन बढ़ा दी है. इसके बाद गांव में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है.

  • Share this:

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के टप्पल थना क्षेत्र के नूरपुर गांव में हिंदू परिवारों के पलायन की खबर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस बीच विश्व हिंदू परिषद की नेत्री साध्वी प्राची (Sadhvi Prachi) ने गांव की मस्जिद में हवन (Havan in Mosque) करने का ऐलान करके प्रशासन और दूसरे समुदाय की टेंशन बढ़ा दी है. यही नहीं, वीएचपी नेत्री के ऐलान के बाद गांव में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है.

बता दें कि विश्व हिंदू परिषद की नेत्री साध्वी प्राची ने दूसरे समुदाय द्वारा दलितों की बारात पर हमला करने के बाद मस्जिद में हवन का ऐलान किया था. हालांकि वह रविवार को टप्पल थाना क्षेत्र के नूरपुर गांव नहीं पहुंची. वैसे इस दौरान भगवा दलों से जुड़े कई कार्यकर्ता गांव के पास पहुंचे और अंदर जाने को लेकर पुलिस से बहस भी हुई, लेकिन पुलिस की सख्‍ती के आगे उन्‍हें वापस लौटना पड़ा. वैसे प्राची का दौरा अभी तक टला नहीं है और इस वजह से टेंशन बरकरार है.

ये है पूरा मामला

बता दें कि टप्पल थाना क्षेत्र के नूरपुर गांव में बीते 26 मई को बहुसंख्यक समाज के एक युवक की बारात गाजे-बाजे के साथ एक मस्जिद के सामने से गुजर रही थी. इसको लेकर दूसरे समुदाय के लोगों ने मस्जिद के आगे गाना बजाने पर आपत्ति जाहिर की थी. इसके बाद दूसरे समुदाय के लोगों ने बारात पर पथराव किया और लाठी से हमला किया. इस घटना में बारात में शामिल कई लोगों को चोट आने के साथ गाड़ियों के शीशे टूट गए थे. वहीं, इस घटना के बाद हिन्‍दू परिवारों ने अपने घरों के बाहर 'मकान बिकाऊ है' होने के पर्चे चिपका दिए थे.
वीडियो वायरल होने के बाद अलीगढ़ से बीजेपी के सांसद सतीश गौतम और विधायक अनूप प्रधान ने गांव का दौरा किया और पीड़ित पक्ष को भरोसा दिया कि किसी को भी अपनी सुरक्षा की चिंता करने की जरूरत नहीं है. सतीश गौतम ने कहा, ‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शासनकाल में किसी भी व्यक्ति के पलायन का कोई सवाल ही नहीं उठता. इस मामले में दोषी लोगों को ऐसी सजा दी जाएगी जो मिसाल बनेगी.’

इसके अलावा यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि योगी सरकार में किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है. सरकार ऐसे लोगों पर बड़ी कार्रवाई करेगी. मामला सामने आते ही दबंगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई, उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज