• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Mahant Narendra Suicide: तीसरे आरोपी संदीप तिवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, तीनों आरोपियों को भेजा नैनी जेल

Mahant Narendra Suicide: तीसरे आरोपी संदीप तिवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत, तीनों आरोपियों को भेजा नैनी जेल

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में तीसरे आरोपी संदीप तिवारी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया था और गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया.

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में तीसरे आरोपी संदीप तिवारी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया था और गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया.

Mahant Narendra Giri Death: संदीप तिवारी के वकील ने कोर्ट में जमानत अर्जी भी पेश की लेकिन कोर्ट ने फिलहाल उस पर कोई भी फैसला नहीं लिया है और उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

  • Share this:

प्रयागराज. महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्‍ध मौत के मामले में तीसरे आरोपी को भी एसआईटी ने सीजेएम कोर्ट में गुरुवार को पेश कर दिया. संदीप की बुधवार को ही गिरफ्तारी की गई थी. कोर्ट ने संदीप को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. गौरतलब है कि नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आरोपी आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी तीनों को ही नैनी सेंट्रल जेल भेज दिया गया है. महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में तीनों पर मानसिक तौर पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. जिसके बाद यूपी पुलिस ने आनंद तिवारी को हरिद्वार से और आद्या व संदीप तिवारी को प्रयागराज से गिरफ्तार किया था.
वहीं गुरुवार को संदीप तिवारी की सीजेएम कोर्ट में पेशी के दौरान उसके वकील ने जमानत याचिका भी दाखिल की थी लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया. कोर्ट ने कहा कि आरोपी के जमानत प्रार्थना पत्र में पर्याप्त आधार नहीं है, मामला सत्र न्यायालय की ओर से परीक्षण अपराध है. संदीप के वकील का तर्क था कि उसके खिलाफ लगाए गए सभी आरोप आधारहीन और झूठ हैं. आरोप केवल रंजिश के चलते लगा दिए गए हैं ऐसे में उसके खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है.

आनंद और आद्या को भी न्यायिक हिरासत
इससे पहले बुधवार को मामले में आरोपी आनंद गिरि और आद्या तिवारी को पहले ही कोर्ट में पेश किया जा चुका है. दोनों को भी कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

वहीं आरोपी आनंद गिरि ने अपने ऊपर खतरा बताते हुए प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है. अपने वकील की तरफ से कोर्ट में एक प्रार्थना पत्र देकर आनंद गिरि ने कहा है कि उनके ऊपर कल (बुधवार) कोर्ट में हमला हुआ था, जिसको देखते हुए जेल के अंदर और कोर्ट लाते वक्त भी उन पर हमला हो सकता है.

मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, इलाहाबाद को दिए प्रार्थना पत्र में आनंद गिरि ने वकील के माध्यम से कहा है कि उन्हें और आद्या प्रसाद तिवारी को 22 सितंबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है. जब पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, तब न्यायालय के बाहर कुछ अराजक तत्वों द्वारा उनके साथ मारपीट की गई और दुर्व्यवहार किया गया. उन्हें आशंका है कि जेल के अंदर और जेल से न्यायालय लाते समय उनके साथ प्राणघातक हमला व दुर्व्यवहार हो सकता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज