69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा: पुलिस रडार पर 50 से ज्यादा सफल अभ्यर्थी, कई जिलों में फैला नेटवर्क

(प्रतीकात्मक फोटो)
(प्रतीकात्मक फोटो)

69000 शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers Recruitment) फर्जीवाड़ा केस में आरोपियों के बड़े नेटवर्क को देखते हुए प्रयागराज पुलिस ने प्रदेश सरकार से जांच एजेंसी बदलने की सिफारिश की है. माना जा रहा है कि एक-दो दिन में जांच एजेंसी बदलने का एलान हो सकता है.

  • Share this:
प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 69000 शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers Recruitment) फर्जीवाड़ा केस की जांच यूपी एसटीएफ या अन्य किसी एजेंसी को सौंपी जा सकती है. मामले में आरोपियों के बड़े नेटवर्क को देखते हुए प्रयागराज पुलिस ने प्रदेश सरकार से जांच एजेंसी बदलने की सिफारिश की है. माना जा  रहा है कि एक-दो दिन में जांच एजेंसी बदलने का एलान हो सकता है.

टॉपर समेत 2 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा

बता दें गिरोह के कई लोगों को गिरफ्तार कर अब तक जेल भेजा जा चुका है. मामले में अब पुलिस का शिकंजा सफल अभ्यर्थियों पर भी कसने लगा है. पुलिस ने टॉपर समेत 2 अभ्यर्थियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. पुलिस के रडार पर 50 से ज़्यादा सफल अभ्यर्थी हैं. अभ्यर्थियों पर गिरोह को 8 से 10 लाख रुपए देकर भर्ती परीक्षा में पास होने का आरोप है.



गिरोह ने 50 से ज़्यादा अभ्यर्थियों को पास कराने की बात कबूली
पुलिस की पूछताछ में अब तक गिरोह ने 50 से ज़्यादा अभ्यर्थियों को पास कराने की बात कबूली है. पुलिस अफसरों को आशंका है कि सैकड़ों अभ्यर्थियों को पैसे लेकर पास कराया गया है. पैसे लेकर भर्तियां कराने में झांसी में तैनात मेडिकल अफसर का अहम रोल रहा है. केएल पटेल नाम का ये मेडिकल आफिसर जिला पंचायत का सदस्य भी रहा चुका है. यही नहीं मध्य प्रदेश के व्यापमं घोटाले में भी इसका नाम रहा है, ये कई कॉलेजों का संचालक भी बताया जाता है. बताया जा रहा है कि गिरोह का नेटवर्क यूपी के डेढ़ दर्जन से ज़्यादा जिलों में फैला हुआ है.

इनपुट: सर्वेश दुबे

ये भी पढ़ें:

UP 69 हजार शिक्षक भर्ती: SC ने कहा- 37,339 पदों को होल्ड करे सरकार

Lockdown में टीचर को रिटायर करना भूला शिक्षा विभाग, 2 महीने की तनख्वाह भी दी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज