UP News: CBI के बाद अब अतीक अहमद पर कसा ED का शिकंजा, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में केस दर्ज

ईडी ने अतीक अहमद पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है.  . (File)

ईडी ने अतीक अहमद पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है. . (File)

Atiq Ahmad News: गुजरात (Gujarat) के साबरमती जेल (Sabarmati Jail) में बंद अतीक अहदम पर अब ईडी (ED) ने अपना शिकंजा कसा है. अतीक पर गलत तरीके से करोड़ों के लेन-देन का आरोप है. 

  • Share this:
प्रयागराज.  उत्तर प्रदेश के बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद (Atiq Ahmad) पर शिकंजा कसता जा रहा है. अब प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने अतीक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया है. यूपी पुलिस, सीबीआई के साथ ही अब ईडी भी अतीक अहदम से जुड़े हुए मामलों की जांच करेगी. ईडी अतीक के आर्थिक  स्रोतों को खंगालने में जुट गई है. अतीक अहमद पर 16 कंपनियों के जरिए करोड़ों गलत तरीके से लेन देन का आरोप है.  मालूम हो कि अतीक अहमद फिलहाल गुजरात के अहमदाबाद के साबरमती जेल में बंद है.

गौतलब हो कि योगी सरकार ने अतीक अहमदकी शह पर इमामबाड़े की जमीन पर बनाई गई अवैध मार्केट बुलडोजर चलाई थी. दरअसल, सपा शासन काल में साल 2016 में बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के इशारे पर जैन बिल्डर ने इमामबाड़ा गुलाम हैदर अली त्रिपौलिया बताशा मंडी में अवैध रूप से मार्केट का निर्माण कर लिया था.

कई प्रॉपर्टी किए गए जमींदोज

इसके पहले माफिया अतीक अहमद के पैतृक निवास और चुनावी दफ्तर समेत दर्जनों अवैध निर्माण को जमींदोज किया गया. इतना ही नहीं उसके दर्जन भर से अधिक गुर्गों के भी अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की कार्रवाई की गई. साथ ही आगरा जेल में बंद बाहुबली विधायक विजय मिश्रा, फतेहगढ़ जेल में बंद दिलीप मिश्रा, छोटा राजन के गुर्गे राजेश यादव और बच्चा पासी सहित तमाम अपराधियों के अवैध निर्माण पर भी जमींदोज करने की कार्रवाई विकास प्राधिकरण की टीम ने की है.
रिवीजन अर्जी  मंजूर

इधर, प्रयागराज के धूमनगंज थाने में दर्ज 9 मुकदमों में अतीक अहमद के खिलाफ एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने राज्य सरकार की ओर से दाखिल रिवीजन अर्जी को मंजूर कर लिया है. कोर्ट ने रिवीजन अर्जी को मंजूर करते हुए मामले में विवेचकों द्वारा दिए गए विवेचना प्रार्थना पत्र का भी शीघ्र निस्तारण करने का आदेश दिया है. गौरतलब है कि 15 मई 2020 को अधीनस्थ न्यायालय प्रयागराज के तत्कालीन रिमांड मजिस्ट्रेट द्वारा 7 मुकदमों में, जबकि 3 दिसंबर 2020 को 2 मुकदमों में अतीक अहमद के खिलाफ अभियोजन की ओर से दी गई रिमांड अर्जी अस्वीकृत कर दी गई थी. जिसके खिलाफ राज्य सरकार की ओर से जिला न्यायालय में रिवीजन अर्जी दाखिल की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज