लाइव टीवी

महंत नरेंद्र गिरि का यू-टर्न, बोले- चिन्मयानंद का हर मोड़ पर अखाड़ा परिषद देगा साथ

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 7, 2019, 3:32 PM IST
महंत नरेंद्र गिरि का यू-टर्न, बोले- चिन्मयानंद का हर मोड़ पर अखाड़ा परिषद देगा साथ
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि.

महंत नरेंद्र गिरि ने चिन्मयानंद (Chinmayanand) पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली लड़की के बारे में कहा कि इस मामले में पीड़ित लड़की की भूमिका भी संदिग्ध है और ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नशीली दवा खिलाकर स्वामी चिन्मयानंद को फंसाने की साजिश की गई है.

  • Share this:
प्रयागराज. शाहजहांपुर (Shahjahanpur) के एसएस लॉ कॉलेज (SS Law College) की छात्रा से रेप और यौन शोषण मामले में गिरफ्तार पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने सोमवार को यू-टर्न ले लिया है. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद स्वामी चिन्मयानंद का हर तरह से साथ देगा. उन्होंने यह भी कहा है कि स्वामी चिन्मयानंद के साथ अन्याय हुआ है.

साधु संतों को बदनाम करने की साजिश

ऐसे में अखाड़ा परिषद उन्हें अकेला नहीं छोड़ सकता है. उन्होंने कहा है कि चिन्मयानंद मामले की आड़ में साधु संतों को बदनाम करने और उनकी छवि को बिगाड़ने की बड़ी साजिश की जा रही है. महंत नरेंद्र गिरि ने चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली लड़की के बारे में कहा कि इस मामले में पीड़ित लड़की की भूमिका भी संदिग्ध है और ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नशीली दवा खिलाकर स्वामी चिन्मयानंद को फंसाने की साजिश की गई है.

नहीं होगी चिन्मयानंद के निष्कासन की कार्रवाई

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि पीड़िता और उसके साथियों का वीडियो सामने आने के बाद ये पूरी तरह से साफ हो गया है कि स्वामी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगी गई है. महंत नरेंद्र गिरि ने ऐलान किया है कि अब अखाड़ा परिषद की 10 अक्टूबर को हरिद्वार में होने वाली बैठक में स्वामी चिन्मयानंद के निष्कासन की कार्रवाई भी नहीं की जाएगी, बल्कि साधु संत उनके साथ इस लड़ाई में उनका पूरा साथ देंगे.

कानूनी सहायता कराएंगे मुहैया

स्वामी चिन्मयानंद को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की ओर से कानूनी सहायता मुहैया कराए जाने के सवाल पर महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि स्वामी चिन्मयानंद खुद सक्षम हैं, इसलिए उन्हें इसकी कोई आवश्यकता नहीं है. लेकिन साधु संत और अखाड़ा परिषद सामाजिक रूप से स्वामी चिन्मयानंद की इस लड़ाई में उनके साथ खड़ा रहेगा.
Loading...

चिन्मयानंद अपने आश्रम से हुआ था गिरफ्तार

स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (SIT) ने चिन्मयानंद (Chinmayanand) को उसके शाहजहांपुर के आश्रम से गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी के बाद एसआईटी ने चिन्मयानंद का जिला अस्पताल में मेडिकल टेस्ट कराया था फिर उसे कोर्ट में पेश किया था. कोर्ट ने चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

ये भी पढ़ें:

यूपी के इस शहर में 'नवजात' भी अपने खून से करते हैं मां दुर्गा का अभिषेक

राम मंदिर मामला: सीएम योगी बोले- सभी को करना चाहिए SC के फैसले का सम्मान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 3:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...