अपना शहर चुनें

States

महंत नरेंद्र गिरी का बड़ा ऐलान- हरिद्वार महाकुंभ 2021 में नहीं मिलेगा किसी फर्जी अखाड़े को प्रवेश

गौरतलब है कि हरिद्वार (Haridwar) में हाल में ही विश्व अखाड़ा परिषद का गठन किया गया है जिसको लेकर अखाड़ा परिषद ने पहले ही नाराजगी जताई थी.
गौरतलब है कि हरिद्वार (Haridwar) में हाल में ही विश्व अखाड़ा परिषद का गठन किया गया है जिसको लेकर अखाड़ा परिषद ने पहले ही नाराजगी जताई थी.

गौरतलब है कि हरिद्वार (Haridwar) में हाल में ही विश्व अखाड़ा परिषद का गठन किया गया है जिसको लेकर अखाड़ा परिषद ने पहले ही नाराजगी जताई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 1, 2021, 4:48 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. सनातन धर्म और साधु-संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bharatiya Akhara Parishad) नए साल के पहले ही दिन यानी शुक्रवार को श्रीमठ बाघम्बरी गद्दी में पहली अहम बैठक की. 'अखाड़ा परिषद' के नाम से गठित होने वाली संस्थाओं और फर्जी अखाड़ों को लेकर बड़ा फैसला लिया है. प्रयागराज के श्री मठ बाघम्बरी गद्दी में अखाड़ा परिषद की हुई बैठक में सभी तेरह अखाड़ों के पदाधिकारियों ने सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पास किया है कि तेरह अखाड़ों के अलावा किसी संस्था द्वारा अगर अखाड़ा के नाम से कोई रजिस्ट्रेशन कराया जाता है तो उसे मान्यता कतई नहीं दी जाएगी.

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri) ने कहा कि संस्थाओं का रजिस्ट्रेशन करने वाले अधिकारी भी इस बात को सुनिश्चित करें कि अखाड़ा नाम से कोई नई संस्था रजिस्टर्ड न की जाए. खास तौर पर अखाड़ा परिषद की आपत्ति हरिद्वार में नव गठित विश्व अखाड़ा परिषद, त्रिकाल भवंता द्वारा गठित किए गए परी अखाड़े और किन्नरों द्वारा गठित किए गए किन्नर अखाड़े को लेकर है. अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने कहा है कि हरिद्वार महाकुंभ 2021 में ऐसे किसी फर्जी अखाड़े को प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा.

आजमगढ़: नए साल के पहले दिन कोहरे का कोहराम, मासूम समेत 4 की मौत



उन्होंने सरकार से भी किसी भी तरह से मान्यता और सुविधाएं न दिए जाने की भी मांग की है. सरकार के ऐसे फर्जी अखाड़ों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की गई है और यह कहा गया है कि इन फर्जी अखाड़ों के खिलाफ कार्रवाई करने से सनातन धर्म की मर्यादा सुरक्षित रहेगी. गौरतलब है कि हरिद्वार में हाल में ही विश्व अखाड़ा परिषद का गठन किया गया है जिसको लेकर अखाड़ा परिषद ने पहले ही नाराजगी जताई थी. लेकिन अब अखाड़ा परिषद की बैठक में उस पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का ऐलान कर दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज