Home /News /uttar-pradesh /

Allahabad High court: बार एसोसिएशन का चुनाव 1 दिसंबर को, 7 उम्मीदवार होंगे आमने-सामने

Allahabad High court: बार एसोसिएशन का चुनाव 1 दिसंबर को, 7 उम्मीदवार होंगे आमने-सामने

ऐजेंडे पर बातचीत करते आई के चतुर्वेदी.

ऐजेंडे पर बातचीत करते आई के चतुर्वेदी.

Bar Association Elections: इलाहाबाद (Allahabad) हाईकोर्ट बार एसोसिएशन (High Court Bar Association) का चुनाव (Election) एक दिसंबर (1st December) को होगा. बार एसोसिएशन के अध्यक्ष और महासचिव सहित 28 सदस्यीय कार्यकारिणी के लिए वोट डाले जाएंगे. अध्यक्ष पद (President Position) पर कुल सात उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. सभी अपने अपने तरीके से वकीलों के हित में कई दावे कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

इलाहाबाद . इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन का चुनाव 1 दिसंबर को होगा. बार एसोसिएशन के अध्यक्ष और महासचिव सहित 28 सदस्यीय कार्यकारिणी के लिए वोट डाले जाएंगे.चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, मुकाबला दिलचस्प होता जा रहा है. अध्यक्ष पद पर कुल सात उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. सभी अपने अपने तरीके से वकीलों के हित में कई दावे कर रहे हैं. सभी उम्मीदवार यह वादा कर रहे हैं कि जीतने के बाद वे कई तरह के बदलाव लाएंगे. साथ ही वकीलों के हित में भी कई तरह के महत्वपूर्ण कदम उठाएंगे. हाल ही वरिष्ठ अधिवक्ता और प्रत्याशी आई के चतुर्वेदी ने अपने चुनावी ऐजेंडे पर बातचीत की.

जूनियर सीनियर अधिवक्ताओं को तवज्जो
अध्यक्ष पद के प्रत्याशी आई के चतुर्वेदी का कहना है कि अगर वह चुनाव में जीतते हैं तो जूनियर और युवा अधिवक्ताओं को तवज्जो दी जाएगी. जूनियर अधिवक्ताओं के लिए नियमित रूप से प्रशिक्षण कार्यशाला शुरू की जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान यदि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की बेंच का प्रस्ताव आएगा तो उसका पुरजोर विरोध किया जाएगा. उन्होंने कहा कि फ्रेश मुकदमों की लिस्टिंग की समस्या व निस्तारण बिना इफेक्टिव हियरिंग के होगा.

इसके अलावा हाईकोर्ट का फोटो सेंटर यदि खुलता है तो उस दशा में अधिवक्ताओं को सिर्फ 70 प्रतिशत की धनराशि ही देय होगी. सूचीबद्ध फ्रेश मुकदमों को अन्य कोर्ट में स्थानांतरित कराकर, उसी दिन मुकदमों का निस्तारण होगा. फ्रेश मुकदमे हर हाल में तीसरे दिन सूचीबद्ध करने की व्यवस्था होगी. अग्रिम, छोटी एवं बड़ी जमानतों के लिए अलग-अलग कोर्ट की व्यवस्था होगी. आई के चतुर्वेदी ने महिला अधिवक्ताओं के छोटे बच्चों के लिए क्रेच की व्यवस्था भी कराने की बात कही. चतुर्वेदी ने अपने पुराने कार्य भी गिनाए, उन्होंने ने कहा कि मैंने यूपी बार कौंसिल के सदस्य व उपाध्यक्ष के रूप अखिलेश यादव के मुख्यमंत्रित्व कार्यकाल में वकीलों की मृत्यु पर पांच लाख की धनराशि देने का प्रावधान लागू कराया था, जो अब तक जारी है.

Tags: Allahabad high court, Bar Association

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर