PCS प्री 2017 का अब संशोधित रिजल्ट होगा जारी, 14032 अभ्यर्थी हुए थे पास
Allahabad News in Hindi

PCS प्री 2017 का अब संशोधित रिजल्ट होगा जारी, 14032 अभ्यर्थी हुए थे पास
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग

जस्टिस पंकज मित्तल और जस्टिस सरल श्रीवास्तव की खंडपीठ ने धनंजय सिंह और सैकड़ों अन्य की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया.

  • Share this:
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को यूपी लोक सेवा आयोग को पीसीएस 2017 (प्रारंभिक) परीक्षा के संशोधित रिजल्ट को घोषित करने का दिया आदेश है. दरअसल पीसीएस प्री के पांच सवालों को कोर्ट में चुनौती दी गई थी. कोर्ट ने दो प्रश्नों को गलत पाते हुए उनके उत्तर बदलकर फिर से परिणाम जारी करने का आदेश दिया है.

जस्टिस पंकज मित्तल और जस्टिस सरल श्रीवास्तव की खंडपीठ ने धनंजय सिंह और सैकड़ों अन्य की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया. याचिकाकर्ताओं ने परीक्षा में पूछे गए पांच सवालों पर आपत्ति जताते हुए परिणाम को चुनौती दी थी. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पांच में से दो सवालों को गलत पाया.

24 सितम्बर 2017 को पीसीएस प्री 2017 की परीक्षा आयोजित हुई थी. इसके लिए कुल 455297 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था और 246654 अभ्यर्थी पीसीएस प्री में शामिल हुए थे. 19 जनवरी 2018 को आयोग ने पीसीएस प्री का रिजल्ट घोषित किया था जिसमें मुख्य परीक्षा के लिए 14032 अभ्यर्थी सफल घोषित हुए थे.



पीसीएस 2017 के माध्यम से 677 पदों पर अभ्यर्थियों का चयन होना हैं. संशोधित परिणाम जारी करने के आदेश से उन अभ्यर्थियों को झटका लगा है जो सफल घोषित हुए थे.
प्रतियोगियों का कहना था कि गलत प्रश्नों को हटाने के बाद भी मेरिट 200 के पूर्णांक पर तैयार की गई है. इनकी मांग थीच गलत प्रश्नों को हटाने के बाद पहला पेपर जिसमें 150 प्रश्न होते हैं कि मेरिट 145 प्रश्नों और दूसरा पेपर, जिसमें 100 प्रश्न होते हैं कि मेरिट 95 प्रश्नों के आधार पर बनाई जाए। परीक्षार्थियों का कहना था कि प्रश्नों को हटाने के बाद आयोग फार्मूले से नंबर निर्धारित करता है, जो बहुत विश्वसनीय नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज