Home /News /uttar-pradesh /

Allahabad High Court : कोरोना को लेकर सोमवार से लागू होगी हाईकोर्ट में नई गाइडलाइंस, जानें कैसे होगा काम

Allahabad High Court : कोरोना को लेकर सोमवार से लागू होगी हाईकोर्ट में नई गाइडलाइंस, जानें कैसे होगा काम

 इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अधीनस्थ अदालतों के लिए जारी की गाइडलाइन

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अधीनस्थ अदालतों के लिए जारी की गाइडलाइन

Allahabad HC New Guidelines: मुख्य न्यायाधीश ने यह आदेश प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र के 10 जनवरी 22 के अनुरोध पत्र पर दिया है. जिसमें कोरोना संक्रमण की चेन ब्रेक करने के लिए 50 फीसदी स्टाफ से काम लेने का अनुरोध किया गया था.

अधिक पढ़ें ...

इलाहाबाद. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) के मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल (CJ Rajesh Bindal) ने बढ़ते कोविड-19 संक्रमण (COVID-19) को देखते हुए नए आदेश जारी किए हैं. सभी अनुभाग अधिकारियों/सुपरवाइजिंग अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि एक दिन के गैप पर 50 फीसदी स्टाफ से ही काम लिया जाए. लेकिन इस दौरान यह भी ध्यान रखा जाए कि किसी सीट का काम न रूके. निबंधक न्यायिक द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि जिस अधिकारी को बुखार हो तुरंत कोविड जांच कराए.

इसके अलावा हाईकोर्ट प्रयागराज व लखनऊ पीठ परिसर में शराब, पान, गुटका, तंबाकू आदि खाकर आने वालों को प्रतिबंधित कर दिया गया है. साथ ही गंभीर बीमारी से पीड़ित अधिकारियों को इसकी सूचना न्यायालय प्रशासन को देने को कहा गया है. ताकि ऐसे लोगों को ड्यूटी पर तैनाती से छूट दी जा सके. इसकी सूचना लखनऊ पीठ के सीनियर रजिस्ट्रार वह इलाहाबाद के रजिस्ट्रार न्यायिक को दी जाएगी. 50 फीसदी अधिकारियों व स्टाफ से काम लेने में सोशल डिस्टेंसिंग कायम रखी जाए.

अनुभाग अधिकारी को यह छूट दी गई है कि अतिआवश्यक होने पर घर पर बैठे स्टाफ को काम के लिए बुला सकते हैं. कहा गया है कि सभी स्टाफ टेलीफोन या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के जरिए अपने अनुभाग से संपर्क बनाए रखें. इन निर्देशों का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है. मुख्य न्यायाधीश ने यह आदेश प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र के 10 जनवरी 22 के अनुरोध पत्र पर दिया है. जिसमें कोरोना संक्रमण की चेन ब्रेक करने के लिए 50 फीसदी स्टाफ से काम लेने का अनुरोध किया गया था.

गर्भवती न्यायिक स्टाफ को छूट
वहीं इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में बढ़ते कोविड संक्रमण को देखते हुए अधीनस्थ अदालतों, अधिकरणों की कार्यवाही की नई गाइडलाइंस जारी की है. महानिबंधक आशीष गर्ग द्वारा सभी जिला जजों, पीठासीन अधिकारियों को जारी आदेश में एक समय में 50 फीसदी न्यायिक अधिकारियों से कार्य लेने का निर्देश दिया है. यह रोटेशन में जारी रहेगा. इसके साथ ही गर्भवती न्यायिक स्टाफ को छूट रहेगी. बहुत जरूरी हो तो उन्हें घर से कार्य करने की अनुमति दी जाएगी. यह भी कहा गया है कि वादकारियों या प्रतिनिधियों का न्यायालय परिसर में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा. अतिआवश्यक मामलों में जिला जज की पूर्व अनुमति से उन्हें परिसर में प्रवेश की अनुमति दी जा सकती है. यह गाइडलाइंस 17 जनवरी 22 से प्रभावी होगी.

Tags: Allahabad high court, Corona 19

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर