लाइव टीवी

राहुल के 'न्याय' स्कीम पर HC का कांग्रेस को नोटिस, पूछा- क्यों न इसे गरीबों को रिश्वत देना समझें

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 19, 2019, 5:39 PM IST
राहुल के 'न्याय' स्कीम पर HC का कांग्रेस को नोटिस, पूछा- क्यों न इसे गरीबों को रिश्वत देना समझें
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की फाइल फोटो

वकील मोहित कुमार की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस गोविन्द माथुर और जस्टिस एसएम शमशेरी की डिवीजन बेंच ने कांग्रेस की 'न्‍याय स्‍कीम पर' सवाल उठाया है.

  • Share this:
कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव के लिए जारी घोषणा पत्र में जिस 'न्याय योजना' का वादा किया गया है, वह पार्टी के लिए मुसीबत बन सकती है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार (19 अप्रैल) को एक याचिका की सुनवाई करते हुए कांग्रेस पार्टी को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने पूछा है कि इस वादे को गरीबों को रिश्वत देने जैसा क्यों न माना जाए?

हाईकोर्ट के वकील मोहित कुमार द्वारा दाखिल जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस गोविन्द माथुर और जस्टिस एसएम शमशेरी की डिवीजन बेंच ने कहा, "इस तरह की घोषणा वोटरों को रिश्वत देने की कैटगरी में क्यों नहीं? क्यों न पार्टी के खिलाफ पाबंदी या दूसरी कोई कार्रवाई की जाए?" अदालत ने इस मामले में चुनाव आयोग से भी जवाब मांगा है. कांग्रेस पार्टी और चुनाव आयोग को जवाब दाखिल करने के लिए कोर्ट ने दो हफ्ते का समय दिया है. अदालत ने माना है कि इस तरह की घोषणा रिश्वतखोरी व वोटर्स को प्रभावित करने की कोशिश है.

ये भी पढ़ें: प्रियंका चतुर्वेदी ने छोड़ा कांग्रेस का 'हाथ', शिवसेना में हुईं शामिल

बता दें कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में गरीबों के लिए सालाना 72 हज़ार रुपये उनकी आय सुनिश्चित करने का वादा किया है. कांग्रेस ने इस स्कीम को न्याय योजना का नाम दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष सहित पार्टी के तमाम नेता अपने चुनाव प्रचार के दौरान इसका जमकर प्रसार कर रहे हैं. कांग्रेस का मानना है कि यह स्कीम लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए गेम चेंजर साबित होगी.

ये भी पढ़ें: ANALYSIS: दिलचस्प मोड़ पर अमेठी का रण, स्मृति ने बनाया राहुल के लिए ये चक्रव्यूह

स्कीम के तहत कांग्रेस देश के 20 करोड़ गरीबों के खाते में 6 हजार रुपये देकर उन्हें गरीबी रेखा से बाहर निकालने का दावा कर रही है. उसके मुताबिक हर उस परिवार की न्यूनतम आय 6 हजार सुनिश्चित की जाएगी जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं.

(इनपुट-सर्वेश दुबे)
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 19, 2019, 3:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...