Home /News /uttar-pradesh /

allahabad high court judge rajeev gupta refuses to hear mukhtar ansari two case upat

मुख्तार अंसारी से जुड़े दो मामलों की सुनवाई कर रहे हाईकोर्ट के जज ने खुद को किया अलग

हाईकोर्ट के जज राजीव गुप्ता ने मुख़्तार अंसारी से जुड़े दो मामलों की सुनवाई से खुद को किया अलग (फाइल फोटो)

हाईकोर्ट के जज राजीव गुप्ता ने मुख़्तार अंसारी से जुड़े दो मामलों की सुनवाई से खुद को किया अलग (फाइल फोटो)

Allahabad High Court News: साल 2012-13 में विधायक निधि में भ्रष्टाचार के मामले में मुख्तार अंसारी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी. मुख्तार अंसारी ने चार्जशीट को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. मुख्तार अंसारी की ओर से दलील दी गई थी कि पिछले 17 सालों से वह जेल में बंद है. उसकी तरफ से कोई गड़बड़ी नहीं की गई है. उसने जो सिफारिशें की थी और जिन स्कूलों को विधायक निधि के पैसे दिए थे उसकी सत्यता जांचने का काम जिला प्रशासन का था. जेल में रहते हुए वह सच्चाई नहीं जान सकता था. इस मामले में पुलिस द्वारा दाखिल चार्जशीट को रद्द किए जाने की मांग की गई थी.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. पूर्वांचल के माफिया डॉन बांदा जेल में बंद बाहुबली पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी से जुड़े दो मामलों में बुधवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई नहीं हो सकी. दोनों मामलों की सुनवाई कर रही सिंगल बेंच के जज ने मुख्तार के मामलों में सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है. मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस राजीव गुप्ता ने सुनवाई करने से इनकार करते हुए दोनों मामले चीफ जस्टिस के पास भेज दिए. जिससे अब चीफ जस्टिस राजेश बिंदल किसी नई बेंच को इन मामलों की सुनवाई के लिए नामित करेंगे.

गौरतलब है कि साल 2012-13 में विधायक निधि में भ्रष्टाचार के मामले में मुख्तार अंसारी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी. मुख्तार अंसारी ने चार्जशीट को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. मुख्तार अंसारी की ओर से दलील दी गई थी कि पिछले 17 सालों से वह जेल में बंद है. उसकी तरफ से कोई गड़बड़ी नहीं की गई है. उसने जो सिफारिशें की थी और जिन स्कूलों को विधायक निधि के पैसे दिए थे उसकी सत्यता जांचने का काम जिला प्रशासन का था. जेल में रहते हुए वह सच्चाई नहीं जान सकता था. इस मामले में पुलिस द्वारा दाखिल चार्जशीट को रद्द किए जाने की मांग की गई थी.

वहीं दूसरा मामला आजमगढ़ के तिर्वा थाने में गैंगस्टर एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे से जुड़ा हुआ है. इस मामले में मुख्तार अंसारी ने जमानत अर्जी दाखिल की थी. दोनों मामलों की सुनवाई जस्टिस राजीव गुप्ता की सिंगल बेंच में होनी थी. हालांकि जमानत अर्जी वाला मामला अब 28 अप्रैल को सुना जाएगा, जबकि विधायक निधि से जुड़े मामले में 2 मई को होगी सुनवाई.

Tags: Allahabad high court, Mukhtar Ansari Case, UP latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर