लाइव टीवी

इलाहाबाद हाईकोर्ट: रामजन्मभूमि मामले में फैसला सुनाने वाले जज ने बनाया ये रिकॉर्ड

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 1, 2019, 8:47 PM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट: रामजन्मभूमि मामले में फैसला सुनाने वाले जज ने बनाया ये रिकॉर्ड
दावा किया जा रहा है कि वह ऐसा करने वाले देश के इकलौते जस्टिस हैं.

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) के जस्टिस सुधीर अग्रवाल (Justice Sudhir Aggarwal) ने अपने 15 साल के कार्यकाल में 31 अक्टूबर 2019 तक कुल 1,30,418 मुकदमों का निस्तारण किया है, जो कि रिकॉर्ड है. दावा है कि वह ऐसा करने वाले देश के पहले जस्टिस हैं.

  • Share this:
इलाहाबाद. उत्‍तर प्रदेश के इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) के जस्टिस सुधीर अग्रवाल (Justice Sudhir Aggarwal) ने मुकदमों के निस्तारण में एक नया रिकॉर्ड कायम किया है. जस्टिस अग्रवाल ने अपने 15 साल के कार्यकाल में 31 अक्टूबर 2019 तक कुल 1,30,418 मुकदमों का निस्तारण कर एक नया कीर्तिमान बनाया है. दावा किया जा रहा है कि वह ऐसा करने वाले देश के एकमात्र न्यायाधीश हैं. उनके फैसलों में कई ऐसे चर्चित फैसले भी शामिल हैं जो अपने आप में एक नजीर हैं. जस्टिस अग्रवाल ने राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद (Ram Janmabhoomi Babri Masjid dispute) पर निर्णय सुनाकर ख्याति अर्जित की. इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट का भी फैसला आने वाला है.

ये रहे हैं खास फैसले
रामजन्म भूमि के अलावा जस्टिस अग्रवाल ने शंकराचार्य ज्योतिष पीठ विवाद पर महत्वपूर्ण निर्णय सुनाया. उनके चर्चित मुकदमों की फेहरिस्त में मंत्रियों और सरकारी अफसरों के बच्चों को सरकारी प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने का निर्देश, सरकारी कर्मचारियों को सरकारी अस्पताल में ही इलाज कराने का निर्देश जैसे कई महत्वपूर्ण फैसले शामिल हैं.

आगरा के रहने वाले हैं अग्रवाल

मूल रूप से आगरा के रहने वाले जस्टिस अग्रवाल ने स्नातक की शिक्षा आगरा विश्वविद्यालय से तथा मेरठ विश्वविद्यालय से उन्होंने विधि स्नातक की उपाधि ली. 5 अक्टूबर 1980 से उन्होंने अपनी वकालत के करियर की शुरुआत की. वह उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के स्टैंडिंग काउंसिल में भी रहे. जबकि 19 सितंबर 2003 को जस्टिस अग्रवाल उत्तर प्रदेश सरकार के अपर महाधिवक्ता नियुक्त किए गए थे. जस्टिस अग्रवाल ने 5 अक्टूबर 2005 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के अपर न्यायाधीश (अडिशनल जज) के तौर पर शपथ ली और 10 अगस्त 2007 को वह हाईकोर्ट के नियमित जज नियुक्त किए गए थे.

ये भी पढ़ें-
पुलिस के हत्‍थे चढ़े OLA-UBER के 10 लुटेरे ड्राइवर, कर चुके हैं 100 से अधिक वारदात
Loading...

योगी सरकार ने 17 ओबीसी जातियों को एससी का दर्जा देने का आदेश लिया वापस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 8:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...