UP: ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर गाजियाबाद के बीजेपी MLA ने दायर की याचिका, HC ने तलब की रिपोर्ट

ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर गाजियाबाद के बीजेपी MLA ने दायर की याचिका (File photo)

ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर गाजियाबाद के बीजेपी MLA ने दायर की याचिका (File photo)

महाधिवक्ता मनीष गोयल ने जिले से प्राप्त जानकारी के आधार पर याची के आरोपों को निराधार करार दिया और कहा कि गाजियाबाद (Ghaziabad) के 35 कोविड अस्पतालों में से किसी भी अस्पताल ने ऑक्सीजन आपूर्ति न होने की शिकायत नहीं की है.

  • Share this:

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) के लोनी से भाजपा विधायक (BJP MLA) नंदकिशोर गुर्जर ने एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. इसी कड़ी में सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने गाजियाबाद की ऑक्सीजन सिलेंडर दिल्ली व हरियाणा को अवैध आपूर्ति व ब्लैक मार्केटिंग करने की एडीएम सिटी के खिलाफ लोनी विधायक की शिकायत की जांच रिपोर्ट के साथ जिलाधिकारी से दो हफ्ते में व्यक्तिगत हलफनामा मांगा है.

महाधिवक्ता मनीष गोयल ने जिले से प्राप्त जानकारी के आधार पर याची के आरोपों को निराधार करार दिया और कहा कि गाजियाबाद के 35 कोविड अस्पतालों में से किसी भी अस्पताल ने ऑक्सीजन आपूर्ति न होने की शिकायत नहीं की है. लोनी के एकमात्र कोविड अस्पताल ने भी ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर कोई शिकायत नहीं की है. ऐसे मे याची की शिकायत मनगढंत, निराधार है. कोर्ट ने अपर महाधिवक्ता द्वारा दी गयी जानकारी को हलफनामे के तहत दाखिल करने का निर्देश दिया है. याचिका की अगली सुनवाई 7 जून को होगी. यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीता अग्रवाल तथा न्यायमूर्ति साधना रानी ठाकुर की खंडपीठ ने लोनी के विधायक नंद किशोर की जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए दिया है.

UP: अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ पहुंचे सीएम योगी, प्रधान से बोले- बिना भेदभाव करना काम

भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने आरोप लगाया है कि प्रदेश और जिले में ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी नहीं है. सरकार ने पूरा इंतजाम किया हुआ है, लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही के कारण लोगों की मौत हो रही है. आरोप लगाया कि एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह ऑक्सीजन सिलिंडरों की कालाबाजारी करा रहे हैं, जिससे लोगों की जानें जा रही हैं. उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. उन्होंने एसएसपी को पत्र देकर हत्या का मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है.
4 हजार में हो रही कालाबाजारी

विधायक ने कहा कि जिस सिलिंडर की कीमत बाजार में 400 और 800 रुपये थी, कालाबाजारी कर उसके 4 हजार रुपये से लेकर आठ हजार रुपये तक वसूले जा रहे हैं. इसमें अधिकारियों का हाथ है. यदि वह इस पर रोकथाम करते तो इस तरह से लोगों की मौत का सौदा नहीं होता. उन्होंने कहा कि अभी तक जिले में हुई सैकड़ों मौत के जिम्मेदार एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज