Home /News /uttar-pradesh /

कुंभ मेले के दौरान 'चमड़ा' फैक्ट्री चलाने की HC ने दी अनुमति, ये रही शर्त

कुंभ मेले के दौरान 'चमड़ा' फैक्ट्री चलाने की HC ने दी अनुमति, ये रही शर्त

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रतिकात्मक तस्वीर

कोर्ट ने कहा हैं कि याची फैक्ट्रियों को निर्बाध काम करने की इजाजत दी जाती है लेकिन वे गंगा में सीधे या किसी ऐसे नाले में फैक्ट्री का गंदा पानी नहीं गिरायेगी जो सीधे गंगा में खुलते हो.

    इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने कानपुर व उन्नाव में चमड़े की फैक्ट्रियों को कुंभ के दौरान इस शर्त के साथ चलाने की अंतरिम अनुमति दे दी है. कोर्ट ने निर्देश देते हुए कहा है कि ये फैक्ट्रियां गंगा में किसी प्रकार का अपशिष्ट पानी नहीं गिरायेंगी. सरकार ने कुंभ के दौरान गंगा नदी की सफाई के मद्देनजर इन फैक्ट्रियों को तीन महीने के लिए बंद करने के आदेश दे दिये थे. कोर्ट ने कहा हैं कि याची फैक्ट्रियों को निर्बाध काम करने की इजाजत दी जाती है लेकिन वे गंगा में सीधे या किसी ऐसे नाले में फैक्ट्री का गंदा पानी नहीं गिरायेगी जो सीधे गंगा में खुलते हो. इस मामले की अगली सुनवाई 4 जनवरी को होगी. वहीं हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को इस प्रकरण में पूरी बात रखने का आदेश दिया है.

    यह आदेश जस्टिस रितुराज अवस्थी व जस्टिस राजीव सिंह की बेंच ने दो अलग-अलग फैक्ट्रियों की याचिकाओं पर सुनवाई करते पारित किया. शीतकालीन अवकाश के चलते चीफ जस्टिस ने प्रकरण को सुनने के लिए उपरेाक्त विशेष पीठ का गठन किया था. याचियों की ओर से कहा गया था कि प्रयागराज में होने वाले कुंभ मेले के चलते राज्य सरकार के निर्देश पर यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने 26 नवंबर को एक आदेश जारी कर तीन माह के लिए कानपुर व उन्नाव की सभी चमड़ा फैक्ट्रियों को बंद करने का आदेश दिया है.

    याचियों ने बोर्ड के उक्त आदेश को रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि तीन माह उद्योग बंद होने से करीब बीस हजार लोग बेरोजगार हो जायेंगे. कहा गया कि उनकी ओर से प्रस्ताव दिया गया था कि तीन माह के दौरान उनकी फैक्ट्रियों का गंदा पानी गंगा में न गिराकर अस्थायी तौर पर कहीं और गिराया जायेगा लेकिन उस प्रस्ताव पर विचार ही नहीं किया गया. यह भी कहा गया कि चमड़ा उद्योग से काफी विदेशी मुद्रा अर्जित होती है जिसका नुकसान सरकार को उठाना पड़ेगा. फैक्ट्रियां बंद होने से विदेशी व देशी कम्पनियों से लिये गये ठेके भी पूरे नही हो पायेगें जिससे उन्हें बड़ा नुकसान होगा.

    ये भी पढ़ें:

    घूसखोरी मामले में योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, मंत्रियों के निजी सचिवों के खिलाफ FIR दर्ज

    सुर्खियां: अखिलेश ने राज्यपाल पर लगाया पक्षपात का आरोप, तीन तलाक पर मुसलमान सिर्फ कुरान को मानेगा

    बुलंदशहर हिंसा: जानिए कौन है इंस्पेक्टर का हत्यारा प्रशांत 'नट'

    कैबिनेट में जगह ना मिलने का मामला: सपा MLC ने दिग्विजय सिंह को दिया यह जवाब

     

    आपके शहर से (इलाहाबाद)

    इलाहाबाद
    इलाहाबाद

    Tags: Allahabad high court, Allahabad Kumbh Mela, BJP, Kanpur news, National Green Tribunal (NGT), Uttar pradesh news, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर