Home /News /uttar-pradesh /

हाईकोर्ट ने कहा- लिव इन रिलेशनशिप के खिलाफ नहीं, समलैंगिक लड़कियों को सुरक्षा देने के निर्देश

हाईकोर्ट ने कहा- लिव इन रिलेशनशिप के खिलाफ नहीं, समलैंगिक लड़कियों को सुरक्षा देने के निर्देश

UP: समलिंगी लड़कियों ने याचिका दाखिल कर सुरक्षा की मांग की थी. (File photo)

UP: समलिंगी लड़कियों ने याचिका दाखिल कर सुरक्षा की मांग की थी. (File photo)

Allahabad High Court Order: समलिंगी लड़कियों ने याचिका दाखिल कर सुरक्षा की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि यदि कोर्ट ने उन्हें सुरक्षा नहीं प्रदान की तो वे दोनों साथ साथ नहीं रह सकती हैं. उनका कहना था कि उनको परिवार के लोगों द्वारा लगातार परेशान किया जा रहा है और उन्हें शांति से जीवन यापन नहीं करने दिया जा रहा है. लड़कियों ने ये भी कहा कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है. याचिका में कहा गया था कि वे दोनों समलिंगी व बालिग हैं, और वे एक साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहना चाह रहे हैं. कहा यह भी गया था कि उनके माता-पिता उन पर सम्बन्ध समाप्त करने को लेकर दबाव बना रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने लिव-इन रिलेशनशिप (Live in Relationship) में रह रही दो लड़कियों की सुरक्षा की मांग में दाखिल याचिका पर अहम फैसला सुनाया है. हाईकोर्ट ने लिव इन रिलेशनशिप में रह रही समलैंगिक लड़कियों को पुलिस सुरक्षा देने का निर्देश दिया है. कोर्ट ने कहा कि वह लिव इन रिलेशनशिप के खिलाफ नहीं है. हापुड़ के पंचशील नगर की लड़की अंजू सिंह व उसके लिव इन पार्टनर के सुरक्षा की मांग में दाखिल याचिका पर यह आदेश जस्टिस डॉ.केजे ठाकर और जस्टिस अजय त्यागी की डिवीजन बेंच ने दिया है.

समलिंगी लड़कियों ने याचिका दाखिल कर सुरक्षा की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि यदि कोर्ट ने उन्हें सुरक्षा नहीं प्रदान की तो वे दोनों साथ साथ नहीं रह सकती हैं. उनका कहना था कि उनको परिवार के लोगों द्वारा लगातार परेशान किया जा रहा है और उन्हें शांति से जीवन यापन नहीं करने दिया जा रहा है. लड़कियों ने ये भी कहा कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है. याचिका में कहा गया था कि वे दोनों समलैंगिक व बालिग हैं, और वे एक साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहना चाह रहे हैं. कहा यह भी गया था कि उनके माता-पिता उन पर सम्बन्ध समाप्त करने को लेकर दबाव बना रहे हैं.

राजनाथ सिंह ने दिया चीन को कड़ा संदेश – एक-एक इंच जमीन की रक्षा में सक्षम हैं हमारे जवान

उनका कहना है कि अगर वे दोनों आपस में सम्बन्ध खत्म नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ झूठा केस दर्ज करा कर उन्हें फंसा दिया जाएगा. याचिका में उठाए गए इन तथ्यों पर विचार कर कोर्ट ने कहा कि वह लिव इन रिलेशनशिप के खिलाफ नहीं है. इस कारण कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि वह सभी दस्तावेजों का परीक्षण कर याची लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराए. हाईकोर्ट ने पारित अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट के ज्ञान देवी बनाम सुपरिन्टेन्डेन्ट, नारी निकेतन दिल्ली और लता सिंह बनाम उत्तर प्रदेश राज्य के केस में दी गई विधि व्यवस्था का भी उल्लेख किया है

Tags: Allahabad high court, Allahabad High Court Order, Allahabad news, Live in Relationship, Love Story, UP news, UP police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर