Home /News /uttar-pradesh /

काशी व‍िश्‍वनाथ में जारी रहेंगे VIP दर्शन, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खार‍िज की याच‍िका, जानें क्‍या थी यूपी सरकार की दलील

काशी व‍िश्‍वनाथ में जारी रहेंगे VIP दर्शन, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खार‍िज की याच‍िका, जानें क्‍या थी यूपी सरकार की दलील

काशी विश्वनाथ मंदिर में VIP दर्शन पर रोक नहीं

काशी विश्वनाथ मंदिर में VIP दर्शन पर रोक नहीं

Allahabad High Court News: याचिकाकर्ता ने इसे संविधान के अनुच्छेद 14 - 15- 25 और 26 के तहत मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बताया। इस याचिका की सुनवाई जस्टिस मनोज मिश्रा और जस्टिस समीर जैन की डिवीजन बेंच में हुई. सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि न्यासी बोर्ड को कोई भी फैसला लेने का अधिकार है. इस मामले में दखल नहीं दिया जा सकता है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि न्यासी बोर्ड का निर्णय न्यायिक पुनर्विचार के दायरे में नहीं आता है.

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. वाराणसी (Varanasi) के काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) में सुगम दर्शन प्रणाली यानि वीआईपी दर्शन शुरू करने को चुनौती देने वाली जनहित याचिका (PIL) को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने खारिज कर दिया. दरअसल, मंदिर के न्यासी बोर्ड द्वारा कुछ पैसे देकर आसानी से दर्शन की व्यवस्था शुरू की गई है. इस व्यवस्था को चुनौती देते हुए एक छार गजेंद्र सिंह यादव की तरफ से हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई थी. पीआईएल में कहा गया था कि पैसों के भुगतान के आधार पर सुगम दर्शन की योजना वीआईपी कल्चर को बढ़ावा देने और भेदभाव करने वाली है.

याचिकाकर्ता ने इसे संविधान के अनुच्छेद 14 – 15- 25 और 26 के तहत मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बताया। इस याचिका की सुनवाई जस्टिस मनोज मिश्रा और जस्टिस समीर जैन की डिवीजन बेंच में हुई. सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि न्यासी बोर्ड को कोई भी फैसला लेने का अधिकार है. इस मामले में दखल नहीं दिया जा सकता है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि न्यासी बोर्ड का निर्णय न्यायिक पुनर्विचार के दायरे में नहीं आता है.

यूपी सरकार और मंदिर समिति की तरफ से दी गई ये दलील
हाईकोर्ट में यूपी सरकार व मंदिर समिति की तरफ दलीलदी गई कि सुगम दर्शन योजना किसी को रोकने या उनकी पूजा में रुकावट पैदा करने के लिए नहीं है. सुगम दर्शन योजना शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए है. इसके लिए उनसे सिर्फ नाम मात्र का शुल्क लिया जाएगा. यह सुविधा वीआईपी कल्चर को बढ़ावा देने के लिए नहीं बल्कि लोगों की मदद के लिए है. इससे आम श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत नहीं होगी. सुगम दर्शन करने वालों को भी आम श्रद्धालुओं की तरह ही गर्भ गृह में रुकने का समय मिलेगा.

कुछ पैसों का भुगतान कर आसानी से कर सकेंगे दर्शन
काशी विश्वनाथ मंदिर के न्यासी बोर्ड ने पिछले दिनों यह फैसला लिया कि वह सुगम दर्शन की योजना शुरू कर रहा है. सुगम दर्शन के तहत कुछ पैसों का भुगतान कर भीड़ से अलग गर्भ गृह में जाकर दर्शन किया जा सकता है. न्यासी बोर्ड के सुगम दर्शन प्रणाली को ही हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी.

Tags: Allahabad high court, Allahabad High Court Order, Allahabad news, Kashi Temple, UP news, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर