UP: फरार IPS मणिलाल पाटीदार को लेकर हाईकोर्ट सख्त, यूपी पुलिस से पूछा क्या एक्शन लिया?

फरार IPS मणिलाल पाटीदार को लेकर हाईकोर्ट सख्त (File photo)

फरार IPS मणिलाल पाटीदार को लेकर हाईकोर्ट सख्त (File photo)

गौरतलब है कि महोबा (Mahoba) के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी (Indrakant Tripathi) ने तत्कालीन एसपी (SP) मणिलाल पाटीदार पर वसूली के गंभीर आरोप लगाते हुए खुद की जान को खतरा बताया था.

  • Share this:

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने महोबा के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत (Indrakant Tripathi Death Case) मामले में आरोपी निलंबित आईपीएस मणिलाल पाटीदार (IPS Manilal Patidar) के लापता होने को गंभीरता से लिया है. कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि उनकी तलाश मे शासन ने क्या कदम उठाये है. कोर्ट ने विवेचना कर, रही जांच एजेंसी को 14 जून तक हलफनामा दाखिल कर यह बताने का निर्देश दिया है कि लापता पाटीदार की तलाश में अभी तक क्या कदम उठाये है. जब अग्रिम जमानत अर्जी कोर्ट से खारिज हो गयी तो गिरफ्तारी के क्या प्रयास किये गये.

कोर्ट ने पूछा है कि क्या परिवार के किसी सदस्य ने लापता होने की शिकायत की है, तो उसपर क्या एक्शन लिया गया. क्या पुलिस ने पाटीदार का मोबाइल फोन सर्विलांस पर डाला है, तो लास्ट लोकेशन क्या थी. क्या पुलिस ने परिवार के सदस्यो के बयान दर्ज किये है. बयान की प्रकृति क्या है, उसका खुलासा किया जाए और क्या पुलिस ने पाटीदार की गिरफ्तारी के लिए कुर्की कार्यवाही की है. सभी तथ्यों की जानकारी दी जाए. याचिका की अगली सुनवाई 14 जून को होगी. यह आदेश न्यायमूर्ति मनोज मिश्र तथा न्यायमूर्ति एस एसएच रिजवी की खंडपीठ ने अधिवक्ता डा मुकुटनाथ वर्मा की तरफ से दाखिल बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका की सुनवाई करते हुए दिया है.

सीतापुर में तेज आंधी से उड़ा पंडाल, तीन बारातियों समेत 4 की मौत से मचा कोहराम

अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने कहा कि पाटीदार के खिलाफ कई आपराधिक केस है. कई वकीलों के संपर्क में होंगे. उन्होंने अग्रिम जमानत अर्जी दाखिल की थी, जो खारिज हो गयी है. याची अधिवक्ता है. उनके याचिका में अधिकारियों के खिलाफ लगाये गये आरोप व्यक्तिगत जानकारी के नहीं है. ऐसे मे इन आरोपों पर कोर्ट आदेश न जारी करें. सीबीआई के वरिष्ठ अधिवक्ता ज्ञान प्रकाश व संजय कुमार यादव ने भी पक्ष रखा. याची का कहना है कि पाटीदार ने उससे वाट्स एप कॉल के जरिये 15 नवंबर को संपर्क किया और कहा कि वह केस के सिलसिले मे 27नवंबर 22 को आ रहे है. किन्तु वह नहीं आये.
क्रशर कारोबारी की मौत मामले में हैं आरोपी

गौरतलब है कि महोबा के क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार पर वसूली के गंभीर आरोप लगाते हुए खुद की जान को खतरा बताया था. वीडियो वायरल होने के बाद इंद्रकांत त्रिपाठी घायल अवस्था में मिले थे. जिसके बाद कानपुर में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. क्रशर कारोबारी की मौत के बाद मणिलाल पाटीदार को को निलंबित करते हुए मामले की जांच एसआईटी को सौंप दी गई. आईपीएस मणिलाल पाटीदार के खिलाफ हत्या की एफआईआर भी दर्ज है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज