केंद्रीय मंत्री उमा भारती के खिलाफ समन, पूर्व बसपा विधायक की निगरानी खारिज

1 फरवरी 2012 को फ्लाइंग स्क्वॉड मजिस्ट्रेट ने उमा भारती की सफारी गाड़ी में बीजेपी विधायक के समर्थन में पोस्टर, बैनर, हैंडविल बरामद किया था. उक्त मुकदमे में केंद्रीय मंत्री उमा भारती उपस्थित नहीं हुई. कोर्ट ने समन जारी कर 30 जनवरी 2019 को उन्हें न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया है.

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 6, 2018, 9:14 PM IST
केंद्रीय मंत्री उमा भारती के खिलाफ समन, पूर्व बसपा विधायक की निगरानी खारिज
केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती (फाइल)
Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 6, 2018, 9:14 PM IST
उत्तर प्रदेश के महोबा में धारा-127 लोक प्रतिनिधि अधिनियम के मामले में केंद्रीय मंत्री उमा भारती के गुरुवार को उपस्थित न होने पर विशेष जज, एमपी/एमएलए कोर्ट पवन कुमार तिवारी ने पुनः समन जारी कर 30 जनवरी 2019 को न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया है.

UPTET-2018 में सवालों के उत्तर में गड़बड़ी का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, सचिव तलब

बता दें 1 फरवरी 2012 को फ्लाइंग स्क्वॉड मजिस्ट्रेट ने विधानसभा क्षेत्र में उमा भारती की सफारी गाड़ी में बीजेपी विधायक के समर्थन में पोस्टर, बैनर, हैंडविल बरामद किया था, जिस पर मुद्रण का नाम नहीं था. उक्त मुकदमे में आरोप पत्र लगने के बाद से उमा भारती उपस्थित नहीं हुई थीं.

HC: प्रयागराज नामकरण केस में सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

वहीं रामपुर के पूर्व बसपा विधायक यूसुफ अली के खिलाफ भी 5 जनवरी 2012 को धारा 127 का मुकद्दमा दर्ज हुआ था. 30 मई 2012 को आरोप पत्र लगने के बाद समन आदेश को तात्कालिक विधायक ने निगरानी के द्वारा ज़िला जज की अदालत में आदेश को चुनोती दी थी. उक्त निगरानी इलाहाबाद हस्तांतरित हो गई थी, जिसे गुरुवार को कोर्ट ने खारिज कर दिया.

ये भी पढ़ें:

यूपी बोर्ड 2019 के टाइम टेबल में बड़ा बदलाव, लाखों छात्रों को मिली ये राहत
Loading...

बुलंदशहर हिंसा: जब अखलाक को मुआवजा दिया गया तो सुमित को भी देना सही: संगीत सोम

बहराइच सांसद सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, कहा- ये समाज को बांटने वाली पार्टी

...जब सावित्री बाई फुले का मायावती ने कराया था इंटर कॉलेज में एडमिशन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर