लाइव टीवी

राज्यसभा में गर्ल्स हॉस्टल की सुरक्षा का मुद्दा उठवाना ऋचा सिंह को पड़ा भारी, AU चीफ प्रॉक्टर ने कमरा खाली करने का दिया नोटिस

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 6, 2019, 4:27 PM IST
राज्यसभा में गर्ल्स हॉस्टल की सुरक्षा का मुद्दा उठवाना ऋचा सिंह को पड़ा भारी, AU चीफ प्रॉक्टर ने कमरा खाली करने का दिया नोटिस
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर राम सेवक दुबे ने पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष ऋचा सिंह को दी नोटिस

पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और सपा नेत्री ऋचा (Former Student Union President Richa Singh) पर आरोप लगाया है कि उन्होंने यूनिवर्सिटी (Allahabad University) के गर्ल्स हॉस्टल (Girls Hostel) को लेकर सपा सांसद जया बच्चन (SP MP Jaya Bachchan) को झूठी जानकारी देकर विश्वविद्यालय की छवि को खराब करने की कोशिश की है.

  • Share this:
प्रयागराज. इलाहाबाद सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी (Allahabad Central University) के महिला छात्रावास (Women's hostel) में छात्राओं की सुरक्षा को लेकर राज्य सभा (Rajya Sabha) में सपा सांसद जया बच्चन (Jaya Bachchan) के सवाल उठाए जाने के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. महिला छात्रावास की सुरक्षा व्यवस्था के मुद्दे पर चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर राम सेवक दुबे (Chief Proctor Professor Ram Sewak Dubey) ने हॉस्टल वार्डन और विश्वविद्यालय के सुरक्षा अधिकारी के साथ बैठक के बाद छात्राओं की असुरक्षा की बात से साफ तौर पर इनकार किया है.

झूठी जानकारी देने का आरोप!
उन्होंने कहा है कि महिला छात्रावास में कुल छह छात्रावास हैं और यहां पर छात्रायें पूरी तरह से सुरक्षित हैं. वहीं उन्होंने इस मामले में महिला छात्रावास में रह रही पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और सपा नेत्री ऋचा पर आरोप लगाया है कि उन्होंने यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल को लेकर सपा सांसद जया बच्चन को झूठी जानकारी देकर विश्वविद्यालय की छवि को खराब करने की कोशिश की है. चीफ प्राक्टर ने ऋचा सिंह से महिला छात्रावास का कमरा खाली कराने के लिए डीएम और एसएसपी को भी पत्र लिखकर मदद मांगी है. इसके साथ ही उन्होंने ऋचा सिंह को 20 बिन्दुओं पर नोटिस भी जारी किया है.

चीफ प्राक्टर का आरोप है कि अप्रैल 2019 से ऋचा सिंह का गर्ल्स हॉस्टल के कमरे पर अवैध कब्जा बना हुआ है. उन्होंने आशंका जताई है कि ऋचा सिंह यूनिवर्सिटी और महिला छात्रावास परिसर में भारी अराजकता आयोजित करा सकती है. उन्होंने कहा है कि हॉस्टल वार्डन के कई बार नोटिस दिए जाने के बावजूद ऋचा सिंह हॉस्टल खाली नहीं कर रही हैं. उन्होंने ऋचा सिंह पर छात्रावास के निर्माण को बाधित करने, हॉस्टल में रह रही दूसरी छात्राओं को भड़काने और सपा की पूर्व प्रदेश प्रवक्ता होने के नाते हॉस्टल परिसर में बेरोक-टोक चार पहिया वाहन लेकर आने-जाने और अनुशासनहीनता का आरोप भी लगाया है.

महिला छात्रावास पूरी तरह से हैं सुरक्षित
वहीं यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हास्टल की वार्डन डॉ. सरोज यादव और डॉ. दीप शिखा ने भी कहा है कि यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हास्टल परिसर में छात्रायें पूरी तरह से सुरक्षित हैं. हॉस्टल वार्डन ने कहा है कि हॉस्टल में डबल लेयर्ड सिक्योरिटी है. सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और हॉस्टल गेट पर आर्मी से रिटायर्ड गार्ड 24 घंटे तैनात रहते हैं. हॉस्टल के निर्माण में लगे मजदूरों के बेरोक-टोक आने जाने के सवाल पर उन्होंने कहा है कि मजदूर और कर्मचारी पास से हॉस्टल में प्रवेश करते हैं और शाम छह बजे से पहले ही बाहर चले जाते हैं. जिसके बाद रात नौ बजे तक हॉस्टल का गेट भी बंद हो जाता है. हॉस्टल वार्डन ने कहा है कि सभी छह हॉस्टलों की वार्डन हॉस्टल परिसर में ही मौजूद रहती हैं, इसलिए किसी अंत:वासी छात्रा को यदि कोई समस्या है तो वह उनसे भी शिकायत कर सकती है.


ये भी पढ़ें - उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के परिजन को जान से मारने की धमकी, चाचा ने बताया-फोन कर दुकान जलाने की बात भी कही

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 3:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर