Home /News /uttar-pradesh /

UP Board Result 2020 : इन जिलों से निकले टॉपर्स, ये जिले रहे फिसड्डी की गिनती में

UP Board Result 2020 : इन जिलों से निकले टॉपर्स, ये जिले रहे फिसड्डी की गिनती में

इन जिलों से निकले टॉपर्स

इन जिलों से निकले टॉपर्स

बोर्ड परीक्षाओं (UP Board Examination 2020) के परिणाम की समीक्षा करने से यह साफ जाहिर हो रहा है कि यूपी के महानगरों में शिक्षा की स्थिति छोटे जिलों के मुकाबले बहुत ही खराब है.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 10वीं और 12वीं परीक्षा (UP Board Result 2020) के नतीजे जारी कर दिए हैं. दसवीं में 83.31 % जबकि इंटर में 74.63 % परीक्षार्थी पास हुए हैं. यूपी बोर्ड के रिजल्ट की समीक्षा से यह साफ हो जाता है कि महानगरों को एक बार फिर छोटे और कम संसाधन वाले जिलों ने धूल चटाई है. तो आखिर कौन से जिले रिजल्ट के मामले में रहे टॉप और कौन से जिले रहे फिसड्डी आइए जानते हैं.

बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम की समीक्षा करने से यह साफ जाहिर हो रहा है कि यूपी के महानगरों में शिक्षा की स्थिति छोटे जिलों के मुकाबले बहुत ही खराब है. टॉप- 5 की ही बात करें तो यूपी का एक भी महानगर इंटर की परीक्षा में जगह नहीं बना पाया है. कानपुर और गाजियाबाद ने दसवीं की परीक्षा में कुछ अच्छा रिजल्ट जरूर दिया है. 10वीं परीक्षा के परिणामों की बात करें तो सबसे बेहतरीन रिजल्ट अमरोहा में देखने को मिला है. अमरोहा में 93.01 फ़ीसदी परीक्षार्थी पास हुए हैं. दूसरे नंबर पर शामली है, जहां 92.02 फ़ीसदी छात्र पास हुए हैं.

UP Board Results 2020: 12वीं के 2nd Topper प्रांजल सिंह ने शेयर किया सफलता का गुरुमंत्र

कानपुर में 91.64, गाजियाबाद में 91.62 और मुजफ्फरनगर में 91.10 फ़ीसदी परीक्षार्थी पास हुए हैं. दुखद यह है कि लखनऊ, आगरा, वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर हाई स्कूल की परीक्षा परिणाम में बेहद निचले पायदान पर हैं. प्रयागराज जिसे शिक्षा की राजधानी कहा जाता है और जहां यूपी बोर्ड का मुख्यालय है. हाई स्कूल की परीक्षा में 46वें स्थान पर रहा है. यहां का पासिंग परसेंट 82.74 % ही रहा है. 82.10 % के साथ गोरखपुर का स्थान 75 जिलों में 50वें नंबर पर है.

UP Board Result 2020: टॉपर्स को मिलेंगे एक लाख रुपये और लैपटॉप

इसी तरह 85.72% के साथ वाराणसी 28 में नंबर पर रहा है. सबसे ज्यादा स्कूलों वाला शहर आगरा 88.31 % के साथ 12वें नंबर पर है. राजधानी लखनऊ 89 फ़ीसदी रिजल्ट के साथ नौवें स्थान पर है. 75 जिलों में से 31 जिले ऐसे रहे हैं. जहां प्रदेश स्तर के पासिंग परसेंट से कम पासिंग परसेंट रहा है. यानी 83.31 फीसदी से कम फ़ीसदी से कम. दसवीं की परीक्षा में सबसे फिसड्डी जिला चंदौली रहा है. 75वें नंबर पर रहे. चंदौली में 73.45 फीसदी परीक्षार्थी ही पास हुए हैं. इसके बाद मिर्जापुर का स्थान आता है, जहां पासिंग परसेंट 74.84 फीसदी रहा है. बहराइच की पोजीशन 73वीं है जहां 75.24 फीसदी रिजल्ट रहा है.

UP Board Result 2020: तीन दिन के अंदर मिलेगी 10वीं-12वीं की मार्कशीट

इंटरमीडिएट की परीक्षा का परिणाम तो बड़े शहरों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं है. टॉप-5 में यूपी का एक भी बड़ा शहर इंटरमीडिएट की परीक्षा में स्थान हासिल नहीं कर पाया है. हाई स्कूल में तो रैंकिंग बड़े शहरों की थोड़ी ठीक थी. लेकिन इंटरमीडिएट की परीक्षा में तो एकदम गर्त में चली गयी है. प्रयागराज (65.42%) 68वीं पोजीशन पर, गोरखपुर (71.42%) 62वीं, आगरा (72.84%) 57वीं, वाराणसी (77.93%) 42वीं जबकि लखनऊ (81.64%) 27वीं पोजीशन पर रहा है

इंटररमीडिएट की परीक्षा में 24 जिलों का पासिंग परसेंटेज प्रदेश के औसत पासिंग परसेंटेज से नीचे रहा है. यानी 74.63 % से भी कम. इंटर की परीक्षा में टॉप- 5 जिले हैं . महोबा (89.24%), शामली (88.03%), अमरोहा (87.32 %), फतेहपुर (86.59 %) और बस्ती (86.59 % ). जबकि तीन सबसे फिसड्डी जिले रहे हैं. अलीगढ़ (56.39 %), गाज़ीपुर ( 56.43 %) और बलिया ( 57.57 % ) शायद ठीक ही कहा गया है कि सफलता संसाधनों का मोहताज नहीं होती.

Tags: CM Yogi, HRD ministry, UP Board Class 10th results, UP Board Class 12th results, UP Board Examinations, UP Board Inter Results, UP education department, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर