लाइव टीवी

श्री राम मंदिर ट्रस्‍ट की 19 फरवरी को दिल्‍ली में होगी पहली बैठक, हो सकता है ये बड़ा ऐलान

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 10, 2020, 8:11 PM IST
श्री राम मंदिर ट्रस्‍ट की 19 फरवरी को दिल्‍ली में होगी पहली बैठक, हो सकता है ये बड़ा ऐलान
श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दिल्‍ली में होने वाली मीटिंग के बाद होगा निर्माण का ऐलान. (सांकेतिक फोटो)

श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की 19 फरवरी को दिल्ली में होने वाली पहली बैठक में राम मंदिर (Ram Mandir) की निर्माण तिथि का ऐलान हो सकता है. इस बात की जानकारी ट्रस्ट के सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने दी है.

  • Share this:
इलाहाबाद. अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Construction) के लिए गठित श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की 19 फरवरी को दिल्ली में होने जा रही पहली बैठक में मंदिर निर्माण की तिथि का ऐलान हो सकता है. श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Shri Ram Mandir Tirth Kshetra Trust) के सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि ट्रस्ट की पहली बैठक में नव संवत्सर 25 मार्च से हनुमान जयंती 8 अप्रैल के बीच किसी शुभ मुहूर्त में मंदिर निर्माण की तारीख तय हो सकती है. स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि अयोध्या में जितनी जल्दी मंदिर का निर्माण होगा, उतनी जल्‍दी हिन्दू समाज की भावनाओं की पूर्ति होगी.

ये है पहली बैठक का एजेंडा
ट्रस्ट की पहली बैठक के एजेंडे को लेकर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि मंदिर निर्माण को लेकर सभी विषयों पर बैठक में चर्चा होगी और सभी सदस्यों की सहमति से ही कोई निर्णय लिया जाएगा. ट्रस्ट की पहली बैठक में ट्रस्ट के मौजूदा सदस्यों की ओर से दो नये सदस्यों का भी चयन किया जाएगा.

महंत नृत्य गोपाल दास को लेकर कही ये बात

राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास को ट्रस्ट में शामिल करने के सवाल पर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि सदस्यों की ओर से प्रस्ताव आने पर उन्हें भी शामिल किया जा सकता है. हांलाकि उन्हें शामिल न करने पर अयोध्या के संतों की नाराजगी को लेकर कहा है कि उनके नाम का प्रस्ताव स्वयं उनकी ओर से भी रखा जा सकता है.

Ram Mandir, Ayodhya, राम मंदिर, अयोध्‍या
श्री राम मंदिर ट्रस्‍ट के सदस्‍य हैं स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती.


 कल्‍याण सिंह और उमा भारती को दिया ये जवाब
श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने ट्रस्ट में ओबीसी सदस्यों को न शामिल करने को लेकर पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह और पूर्व मंत्री उमा भारती की ओर से उठाये जा रहे सवालों पर कहा है कि इस तरह के विवाद खड़े करना कतई उचित नहीं है. उन्होंने कहा है कि ट्रस्ट का गठन केन्द्र सरकार ने किया है, इसलिए इस निर्णय पर अब कोई विवाद नहीं खड़ा करना चाहिए. उन्होंने कहा है कि हिन्दू समाज को एकजुट होकर मंदिर निर्माण करना चाहिए.

स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि ट्रस्ट का कार्यलय अभी भले ही दिल्ली में खुला है, लेकिन अयोध्या ही ट्रस्ट का मुख्य केन्द्र रहेगा. उन्होंने कहा है कि ट्रस्ट की पहली बैठक के बाद सभी सदस्य अयोध्या भी जाएंगे और ट्रस्ट की दूसरी बैठक अयोध्या में ही हो सकती है.

 

ये भी पढ़ें-

सावधान! सोशल साइट्स के जरिए फ्रॉड किया तो 'COP TALK 2.0' से होंगे बेनकाब

अब प्रियंका गांधी करेंगी आजमगढ़ का दौरा, निशाने पर होंगे BJP और अखिलेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 8:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर