लाइव टीवी

Ayodhya Verdict: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने किया फैसले का स्वागत, महंत नरेंद्र गिरि बोले-साधु-संत फैसले से खुश हैं

News18India
Updated: November 9, 2019, 2:51 PM IST
Ayodhya Verdict: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने किया फैसले का स्वागत, महंत नरेंद्र गिरि बोले-साधु-संत फैसले से खुश हैं
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhada Parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि फैसले से हम खुश हैं. ऐसे समय में हमें शांति (peace) बनाय रखना चाहिए.

  • News18India
  • Last Updated: November 9, 2019, 2:51 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhada Parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा है सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन (Land) रामलला को सौंप दी है. इस फैसले का साधु-संत स्वागत करते हैं. उन्होंने मुसलमानों को पांच एकड जमीन (Land) दिए जाने के फैसले का स्वागत किया है. मंहत गिरी ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद लोगों से अमन चैन बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा कि शांति (Peace) बनाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी है.

महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साधु-संत खुश है और सब लोग फैसले का स्वागत कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने विवादित भूमि रामलला विराजमान को दी है.
कोर्ट ने मुस्लिम भाइयों को पांच एकड़ जमीन मस्जिद बनाने के लिए देने का आदेश दिया है.
कोर्ट के इस फैसले का भी अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद स्वागत करता है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक केंद्र सरकार तीन महीने के अंदर ट्रस्ट बनाकर मंदिर का निर्माण शुरू करना चाहिए.

विश्व हिंदू परिषद व अन्य हिंदूवादी संगठनों से मंदिर निर्माण शुरू करने की अपील की है.
नरेंद्र गिरी ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देशवासियों और साधु-संतों से अमन और शांति की अपील की है. नरेंद्र गिरी ने धर्मगुरुओं से भी सांप्रदायिक सौहार्द बनाने के लिए सोशल मीडिया पर अपील करने को कहा है. उन्होने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सर्वमान्य है इसलिए इस फैसले का सबको स्वागत और सम्मान करना चाहिए.

 
Loading...



ये भी पढ़ें- Ayodhya Verdict: राजनाथ सिंह ने SC के फैसले को बताया ऐतिहासिक, कहा- इससे सामाजिक तानाबाना और मजबूत होगा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 1:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...