इलाहाबाद हाईकोर्ट से नोएडा प्राधिकरण को झटका, बिना अधिग्रहण निर्माण कार्य पर रोक

Sarvesh Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 7:23 PM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट से नोएडा प्राधिकरण को झटका, बिना अधिग्रहण निर्माण कार्य पर रोक
Demo Pic
Sarvesh Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 7:23 PM IST
इलाहाबाद हाईकोर्ट से नोएडा विकास प्राधिकरण को झटका लगा है. हाईकोर्ट ने नोएडा के सेक्टर 150 के मोमनाथल गांव में बिना अधिग्रहण और किसानों को मुआवजा दिए बगैर जमीन बिल्डरों को आवंटित करने के खिलाफ स्थगन आदेश जारी किया है. साथ ही कोर्ट ने सभी तरह के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगा दी है.

याचिकाकर्ता प्रेमचन्द्र और तीन अन्य की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने ये आदेश दिया है. याचिका में आरोप लगाया गया था कि नोएडा विकास प्राधिकरण ने 14,170 वर्ग मीटर भूमि तीन बिल्डरों मेसर्स लोटस ग्रीन कांस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, मेसर्स लॉजिक्स इन्फ्रा डेवलेपर्स और एटीएस ग्रीन्स प्राइवेट लिमिटेड को आवंटित कर दी थी.

इसमें से किसानों की 4 हजार 732 वर्ग मीटर भूमि का न ही अथॉरिटी ने अधिग्रहण किया था और न ही किसानों को मुआवजा ही दिया था. लेकिन बिल्डर जमीन पर कब्जा करने पहुंचे गए थे.

इसके खिलाफ किसानों ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर चुनौती दी थी. कोर्ट ने नोएडा विकास प्राधिकरण को किसानों से समझौता करने का मौका दिया था. लेकिन किसानों से बातचीत के जरिए मामला न सुलझने पर कोर्ट ने स्थगन आदेश पारित कर दिया है. मामले की सुनवाई जस्टिस दिलीप गुप्ता और जस्टिस जयन्त बनर्जी की डिवीजन बेंच में हुई.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर