BJP के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने 6 करोड़ रुपए में बेचा अपना घर

उप निबंधक कमला देवी ने बताया कि डॉ जोशी रजिस्ट्रार कार्यालय आने में असमर्थ थे. प्रमाण पत्र सीएमओ द्वारा दिया गया. घर पर रजिस्ट्री कराने का 5000 रुपये कमीशन भी दिया गया, इसके बाद जोशी के मकान पर रजिस्ट्री की सुविधा मुहैया कराई गई.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 2:14 PM IST
BJP के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी ने 6 करोड़ रुपए में बेचा अपना घर
प्रतीकात्मक फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 2:14 PM IST
भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने प्रयागराज स्थित अपना आशियाना 'आंगिरस' बेच दिया है. काफी दिन से ऐसी अटकलें लग रहीं थी कि जोशी जल्द ही अपना बंगला बेचने वाले हैं. करीबीयों के अनुसार पिछले कुछ सालों से जोशी का यहां आना-जाना भी काफी कम हो गया था.

उप निबंधक की मौजूदगी में बुधवार शाम बंगले का सौदा हुआ. इस बंगले को पांच लोगों ने मिलकर खरीदा है. उप निबंधक कमला देवी ने बताया कि डॉ जोशी रजिस्ट्रार कार्यालय आने में असमर्थ थे. प्रमाण पत्र सीएमओ द्वारा दिया गया. घर पर रजिस्ट्री कराने का 5000 रुपये कमीशन भी दिया गया, इसके बाद जोशी के मकान पर रजिस्ट्री की सुविधा मुहैया कराई गई.

चार लोगों ने मिलकर खरीदा

उन्होंने बताया कि टैगोर टाउन स्थित बंगला नंबर 10-ए का क्षेत्रफल 573 वर्गमीटर है. इसे डॉ हर्षनाथ मिश्र के पुत्र डॉक्टर आनंद मिश्रा ने 4 करोड़ 70 लाख रुपये में खरीदा और 32 लाख 90 हजार रुपए स्टांप शुल्क दिया. डॉक्टर हर्षनाथ के दूसरे बेटे अनुपम मिश्र की पत्नी नीलिमा मिश्रा ने 118.17 वर्ग मीटर ओपेन एरिया 80 लाख रुपये में खरीदा और 5 लाख 60 हजार रुपए स्टांप शुल्क दिया.

कमला देवी ने बताया कि हनुमान गंज निवासी धरनीधर द्विवेदी ने बंगले के पीछे का 80.26 वर्ग मीटर ओपेन एरिया 55 लाख रुपये में खरीदा. बंगले में 84.73 वर्ग मीटर खुली जमीन की संध्या कुशवाहा और उनकी बहन प्रियंका कुशवाहा ने संयुक्त रूप से 60 लाख रुपये में रजिस्ट्री कराई और 4 लाख 10 हजार रुपये स्टांप शुल्क अदा किया. रजिस्ट्री के दौरान बैंक और दिवानी के अधिवक्ताओं के साथ ही खरीदारों के गवाह भी मौजूद थे.

प्रयागराज से जोशी का रहा है खास लगाव

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का प्रयागराज से गहरा नाता रहा है. मूल रूप से उत्तराखण्ड के अल्मोड़ा जिले के रहने वाले जोशी मेरठ कॉलेज से बीएससी पास करने के बाद 1951 में एमएससी में प्रवेश के लिए इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आए थे. उन्होंने पढ़ाई पूरी करने के बाद 1953 में प्रो. देवेन्द्र शर्मा के निर्देशन में शोध किया और बाद में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में ही अध्यापन का काम शुरू किया. इस बंगले में भौतिक विज्ञान के प्रोफेसर के. बनर्जी रहते थे.
Loading...

ये भी पढ़ें -

अलीगढ़ में गीता पढ़ने पर मुस्लिम शख्‍स पर हमला, मामला दर्ज

यूपी में 26 एडिशनल एसपी के तबादले, यहां देखें लिस्ट

चपटी नाक कहकर चिढ़ाती थी बहन, भाई ने गला दबाकर मार डाला 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 2:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...