स्कूल में बम बनाते समय हुआ विस्फोट, एक युवक के हाथों के चिथड़े उड़े

प्रयागराज के जूनियर हाईस्कूल के कमरे में इलाके के अपराधिक प्रवृत्ति के कुछ लड़के बम बना रहे थे. बम बनाते समय ही विस्फोट हो गया. अचानक तेज धमाके और विस्फोट की आवाज सुनकर आस-पास के लोग दहल गए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 10:52 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 10:52 AM IST
प्रयागराज के एक जूनियर हाईस्कूल में रविवार को दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जिस स्कूल के अंदर बच्चों के हाथों में कलम होती है उसी स्कूल के कमरे में सोमवार को मौत के सामान को तैयार किया जा रहा था. मामला प्रयागराज के खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के निहालपुर इलाके का है, जहां पर एक जूनियर हाईस्कूल के कमरे में इलाके के अपराधिक प्रवृत्ति के कुछ लड़के बम बना रहे थे. बम बनाते समय ही विस्फोट हो गया. अचानक तेज धमाके और विस्फोट की आवाज सुनकर आस-पास के लोग दहल गए. उसी समय पास के एक स्कूल के गेट से तीन से चार लड़के निकलते हैं जिनमें से एक युवक के दोनों हाथों के चीथड़े उड़ चुके थे, लहूलुहान युवक बुरी तरह से तड़प रहा था. उसके साथी इलाज़ के लिए उसे बाइक पर बैठा कर मौके से किसी तरह निकल जाते हैं.

स्कूल के अंदर बम बनाते समय विस्फोट की जानकारी होते ही पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया. आनन-फानन में मौके पर खुल्दाबाद थाने की पुलिस के अलावा सीओ प्रथम भी पहुंचकर छानबीन में जुट गए. एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा के पहुंचने पर जब स्कूल का गेट खोलकर देखा गया तो कमरे के अंदर बम विस्फोट से युवक के उड़े हाथों के चीथड़े कमरे में चारों तरफ फैले हुए थे. विस्फोट इतना भयानक था की युवक के हाथों की अंगुलियों के चीथड़े और खून के छीटें कमरे की छत और दीवार पर चिपके हुए थे.

वहीं स्थानीय लोगों की मानें तो स्कूल के अंदर की गतिविधियां बेहद खराब थी. अपराधी प्रवृत्ति के लड़के अक्सर यहां आया करते थे, जिसकी कई बार लिखित सूचना भी दी गई, पर पुलिस ने कभी इस पर ध्यान नहीं दिया. वहीं मौके पर पहुंचे एसपी (क्राइम) आशुतोष मिश्रा का कहना है की स्कूल के अंदर विस्फोट होने की सूचना पर पुलिस पहुंची है. स्कूल के अंदर विस्फोटक सामग्री कैसे पहुंची? कौन लोग इस पूरी घटना में शामिल हैं? इसकी जांच की जा रही है.

जांच में जो भी तथ्य निकलकर सामने आएगा, उसी के आधार पर कारवाई होगी. फिलहाल पुलिस स्कूल के अंदर हुए बम विस्फोट के बाद कारवाई की बात भले ही कर रही है लेकिन एक स्कूल के अंदर विस्फोटक सामग्री कैसे आई? स्कूल में इस समय गर्मियों की छुट्टी चल रही है. ऐसे में स्कूल का गेट कैसे खुला?

अपराधी प्रवृत्ति के लोग स्कूल में कैसे दाखिल हुए? यही नहीं स्कूल के अंदर कूड़े के ढ़ेर में बीयर और शराब की बोतलें भी बड़ी संख्या में थीं. बीयर और शराब की बोतलें स्कूल के अंदर कैसे आईं. यह बड़ा सवाल है, जिसका जवाब पुलिस को तलाशना होगा. फिलहाल पुलिस को घटना स्थल से एक बाइक मिली है जिस पर एडवोकेट लिखा है. पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें - 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...