सावन का पहला सोमवार आज, 'बोल बम' के नारों से गूंजी संगम नगरी

मंदिर के व्यवस्थापक स्वामी श्रीधरानंद ब्रह्मचारी के मुताबिक श्रावण मास भगवान शिव का मास माना गया है. मान्यता है कि सतयुग में यहां पर शिवलिंग स्वयं प्रकट हुआ. भगवान शंकर कामदेव को भस्म करके यहां पर विराजमान हो गए.

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 22, 2019, 3:24 PM IST
सावन का पहला सोमवार आज, 'बोल बम' के नारों से गूंजी संगम नगरी
सावन का पहला सोमवार आज
Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 22, 2019, 3:24 PM IST
सावन के पहले सोमवार पर आज संगम नगरी प्रयागराज के शिवालयों में शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी हुई है. इस खास मौके पर इलाहाबाद के शिव मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लगी है. पूरा शहर बोलबम के नारों से गूंज रहा है. यमुना नदी के किनारे स्थित मनकामेश्वर मंदिर में तो एक किलोमीटर से ज्यादा लंबी लाइन लगी हुई है. मान्यता है कि पौराणिक महत्व के इस मंदिर में सच्चे मन से की गई हर कामना जरूर पूरी होती है. यहां किये गए रुद्राभिषेक का भी खास महत्व है.

सावन का महत्व

मंदिर के व्यवस्थापक स्वामी श्रीधरानंद ब्रह्मचारी के मुताबिक श्रावण मास भगवान शिव का मास माना गया है. मान्यता है कि सतयुग में यहां पर शिवलिंग स्वयं प्रकट हुआ. भगवान शंकर कामदेव को भस्म करके यहां पर विराजमान हो गए. शिव पुराण, पद्म पुराण व स्कंद पुराण में इसका उल्लेख 'कामेश्वर तीर्थ' के नाम से मिलता है. त्रेता युग में भगवान राम वनवास जाते समय जब प्रयाग आए तो अक्षयवट के नीचे विश्राम करके इस शिवलिंग का जलाभिषेक किया था.

श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़


 51 दिनों तक दर्शन-पूजन

कहा जाता है कि यहां सच्चे हृदय से आने वाले भक्तों की कामना स्वत: ही पूरी हो जाती है. मनकामेश्वर मंदिर के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती हैं. मंदिर परिसर में ऋण मुक्तेश्वर महादेव भी विराजमान हैं. ऐसी मान्यता है कि इसकी स्थापना त्रेतायुग में भगवान सूर्यदेव ने की. यहां सच्चे हृदय से 51 दिनों तक दर्शन-पूजन से पितृ, आर्थिक सहित हर तरह के ऋण से मुक्ति मिलती है.

श्रीधरानंद ब्रह्मचारी के मुताबिक श्रावण मास में भक्तों के लिए खास व्यवस्था रहती है. प्रतिदिन सुबह साढ़े तीन बजे अभिषेक और मंगला आरती होती है. शाम को विशेष श्रृंगार किया जाता है. नाग पंचमी पर पूरे दिन भंडारा चलता है और महिला पुरुष व बच्चों के लिए अलग-अलग दर्शन-पूजन की व्यवस्था भी रहती है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

गाजियाबाद: महिला कांस्टेबल ने दरोगा पर लगाया रेप का आरोप

सावन के पहले सोमवार पर प्रियंका गांधी ने दी बधाई, बोलीं- हर हर महादेव...

Exclusive: सोनभद्र का दिल दहलाने वाला VIDEO आया सामने, जब 10 लोगों की ले ली गई जान
First published: July 22, 2019, 3:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...