UPTET-2018 में सवालों के उत्तर में गड़बड़ी का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, सचिव तलब

याची शिमला सिंह का कहना है कि कट आफ मार्क 90 है. याची को 89 अंक मिले हैं. अगर यदि उसके उत्तर को सही मानते हुए अंक दिये जाते हैं तो वह भी सफल घोषित हो जाएगी.

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 6, 2018, 8:20 PM IST
UPTET-2018 में सवालों के उत्तर में गड़बड़ी का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, सचिव तलब
इलाहाबाद हाईकोर्ट (फाइल फोटो)
Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 6, 2018, 8:20 PM IST
उत्तर प्रदेश टीईटी परीक्षा 2018 में सवालों के उत्तर में गड़बड़ी का मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले में सचिव, परीक्षा नियामक अथॉरिटी को दस्तावेजी साक्ष्यों के साथ 12 दिसम्बर को तलब किया है. यह आदेश न्यायमूर्ति अजित कुमार ने इलाहाबाद की शिमला सिंह की याचिका पर दिया हैं.

HC: प्रयागराज नामकरण केस में सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

याची अधिवक्ता राधेकृष्णा का कहना है कि टीईटी परीक्षा 2018 के प्रश्न सं. 66 सीरिज ए के दो उत्तर सही हैं. याची ने भी सही उत्तर दिया है लेकिन अथॉरिटी ने दूसरे विकल्प को सही माना है. याची ने अपने पक्ष में एनसीआरटी की पुस्तक को पेश किया है. याची का कहना है कि कट आफ मार्क 90 है. याची को 89 अंक मिले हैं. अगर यदि उसके उत्तर को सही मानते हुए अंक दिये जाते हैं तो वह भी सफल घोषित हो जाएगी. कोर्ट ने इस प्रश्न के संबंध में दस्तावेजी साक्ष्य के साथ सचिव को तलब किया है.

यूपी बोर्ड 2019 के टाइम टेबल में बड़ा बदलाव, लाखों छात्रों को मिली ये राहत

बता दें नवंबर में परीक्षा नियामक प्राधिकारी की तरफ से आंसर की जारी की गई थी. इसमें कई सवालों के उत्तर में गड़​बड़ियों पर आपत्ति आई थी. इसके बाद 30 नवंबर को फाइनल आंसर की जारी की गई. जिसमें प्राथमिक स्तर में 6 और उच्च प्राथमिक स्तर में 3 सवालों के जवाब बदले गए. प्राथमिक स्तर की परीक्षा में एक सवाल के सभी उत्तर गलत थे. इस प्रश्न को हल करने वाले अभ्यर्थियों को समान अंक दिए गए.

बता दें कि इस बार टीईटी 2018 में 93.8 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी. प्राथमिक स्तर में 91.1 प्रतिशत ज​बकि उच्च प्राथमिक स्तर में 93.22 फीसदी अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

बुलंदशहर हिंसा: जब अखलाक को मुआवजा दिया गया तो सुमित को भी देना सही: संगीत सोम

बहराइच सांसद सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, कहा- ये समाज को बांटने वाली पार्टी

...जब सावित्री बाई फुले का मायावती ने कराया था इंटर कॉलेज में एडमिशन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर