लाइव टीवी

CAA Protest: मंसूर अली पार्क में महिलाओं का आंदोलन नहीं ले रहा है थमने का नाम

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 19, 2020, 12:10 AM IST
CAA Protest: मंसूर अली पार्क में महिलाओं का आंदोलन नहीं ले रहा है थमने का नाम
प्रयागराज के मंसूर अली पार्क में धरने पर बैठी महिलाएं

शान्तिपूर्ण ढ़ंग से चल रहे इस विरोध प्रदर्शन (CAA-NRC Protest) की खास बात यह है कि इस आंदोलन की कमान महिलाओं ने संभाल रखी है. महिलायें कड़ाके की ठंड के बावजूद अपने छोटे-छोटे बच्चों को साथ लेकर धरने पर डटी हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर प्रयागराज (Prayagraj) में भी नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध में शहर के मंसूर अली पार्क में पिछले सात दिनों से महिलाओं का धरना लगातार जारी है. कड़ाके की ठंड के बावजूद महिलाओं का यह धरना पूरे चौबीसों घंटे चल रहा है. इस धरने में अब स्थानीय कस्बों और आस-पास के जिलों के साथ ही प्रदेश के दूसरे शहरों की भी महिलायें जुड़ रही हैं.

कड़ाके की ठंड में हौसले की गर्मी
धरना दे रही महिलायें नागरिकता संशोधन कानून को केन्द्र सरकार से वापस लेने की मांग कर रही हैं. साथ ही एनआरसी को भी न लागू करने की मांग कर रही हैं. बीते सात दिनों में पुलिस और प्रशासन ने कई बार प्रदर्शकारी महिलाओं को धरने से हटाने और पार्क को खाली कराने की भी कोशिश की, लेकिन जबरदस्त भीड़ के चलते यह कोशिश नाकाम रही. शान्तिपूर्ण ढ़ंग से चल रहे इस विरोध प्रदर्शन की खास बात यह है कि इस आंदोलन की कमान भी महिलाओं ने संभाल रखी है. महिलायें कड़ाके की ठंड के बावजूद अपने छोटे-छोटे बच्चों को साथ लेकर धरने पर डटी हैं.

सीएए के विरोध में लगातार बढ़ रहे लोग

आंदोलन में लगातार महिलाओं की भीड़ बढ़ने के चलते प्रशासन भी लाचार नजर आ रहा है. पुलिस ने बगैर अनुमति के चल रहे इस धरने में शामिल ढाई सौ लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में 14 जनवरी को मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है, लेकिन केस दर्ज होने के बावजूद प्रदर्शनकारी महिलायें झुकने को कतई तैयार नहीं हैं. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में प्रयागराज की मुस्लिम महिलाओं का यह आंदोलन रविवार 12 जनवरी से शुरू हुआ है. धरने पर बैठी महिला प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वह तब तक पीछे नहीं हटेंगी जब तक केंद्र सरकार नागरिकता संशोधन कानून को वापस नहीं ले लेती है. पिछले सात दिनों से जारी इस आन्दोलन को कई संगठनों और राजनीतिक दलों का भी समर्थन मिल रहा है.

ये भी पढ़ें- शाहीन बाग की तर्ज पर लखनऊ में शुरू प्रदर्शन बनेगा 'पुलिस कमिश्नरी सिस्टम' का पहला लिटमस टेस्ट
प्रयागराज में CAA-NRC के खिलाफ धरने पर बैठी महिलाओं के समर्थन में पहुंचे रेवती रमण...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 12:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर