योगी सरकार के मंत्री का विपक्ष पर पलटवार, पूछा- किस वजह से विकास दुबे की पत्नी को दिया था टिकट?
Allahabad News in Hindi

योगी सरकार के मंत्री का विपक्ष पर पलटवार, पूछा- किस वजह से विकास दुबे की पत्नी को दिया था टिकट?
यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह

प्रयागराज (Prayagraj) में यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Sidharthanath Singh) ने कहा कि आरोप लगा रहे दल पहले अपने गिरेबान में झांककर देखें.

  • Share this:
प्रयागराज. कानपुर कांड (Kanpur Encounter) में फरार अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) की तलाश में यूपी पुलिस ने पूरी ताकत झोंक रखी है. 8 पुलिसकर्मियों की हत्या में फरार इस कुख्यात अपराधी की गिरफ्तारी पर 5 लाख का इनाम घोषित कर दिया गया है. एक तरफ यूपी के साथ राजस्थान, मध्यप्रदेश, हरियाणा और दिल्ली पुलिस विकास दुबे की खोज में खाक छान रही है. वहीं दूसरी तरफ यूपी की सियासत में इस मसले पर घमासान शुरू हो गया है.

प्रदेश में विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस (Congress) ने इस मसले पर योगी सरकार (Yogi Government) पर जमकर हमला किया है. सत्ता और अपराधियों के बीच गठजोड़ के आरोप लगाए जा रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ अब योगी सरकार की तरफ से कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह (Sidhartha Nath Singh) ने मोर्चा संभाला है और विपक्ष पर पलटवार किया है.

अपने गिरेबान में झांककर देखें दल



प्रयागराज में यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि आरोप लगा रहे दल पहले अपने गिरेबान में झांककर देखें. उन्हें यह बताना चाहिए कि आपका और आपकी पार्टी का उससे (विकास दुबे) क्या लेना देना था? किस वजह से विकास दुबे की पत्नी को चुनाव में टिकट दिया था?
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जल्द पकड़ा जायेगा

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि योगी सरकार अपराध को लेकर जीरो टालरेंस की सरकार है. हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे जल्द पकड़ा जायेगा. पुलिस की टीमें दूसरे राज्यों की पुलिस और इंटेलीजेंस एजेंसियों के लगातार सम्पर्क में हैं. प्रदेश सरकार का रवैया अपराधियों को लेकर हमेशा सख्त रहा है. आगे भी अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी.

STF की जांच में मुखबिरी का खुलासा

उधर एसटीएफ के हाथ लगे ऑडियो में दो पुलिसकर्मियों का पता चला है जिन्होंने दबिश की सूचना विकास दुबे को दी थी. यही नहीं इस ऑडियो में विकास कहता सुनाई पड़ा है कि आज पुलिस से निपट लेंगे. एसटीएफ की जांच में पता चला है कि दरोगा केके शर्मा और सिपाही राजीव चौधरी की उस दिन विकास दुबे से बातचीत हुई थी.

फरार है विकास दुबे

घटना के पांच दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस और एसटीएफ फरार विकास दुबे को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पुलिस की 100 से ज्यादा टीमें सूबे व आस-पास के राज्यों में लगातार दबिश दे रही हैं, लेकिन विकास दुबे का कोई सुराग नहीं मिल रहा है. पुलिस ने आशंका जाहिर की है कि विकास दुबे मध्य प्रदेश के ग्वालियर में छुपा हो सकता है. लिहाजा, मध्य प्रदेश की पुलिस को भी हाई अलर्ट पर कर दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading