UPPSC के बाहर हंगामे को लेकर 200 से ज्यादा छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज

पुलिस ने प्रदर्शन और हंगामे के मामले में दो सौ से ज्यादा छात्रों के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 2, 2019, 7:05 AM IST
UPPSC के बाहर हंगामे को लेकर 200 से ज्यादा छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज
यूपी लोक सेवा आयोग (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 2, 2019, 7:05 AM IST
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में पेपर लीक होने के मामले को लेकर शुक्रवार को आयोग के बाहर प्रदर्शन कर रहे प्रतियोगी छात्रों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस ने प्रदर्शन और हंगामे के मामले में दो सौ से ज्यादा छात्रों के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज किया है.

जानकारी के मुताबिक इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष उदय प्रकाश और महामंत्री शिवम सिंह समेत दर्जन भर छात्रों को नामजद किया गया है जबकि दो सौ से ज्यादा अज्ञात छात्रों के खिलाफ भी धारा 144 का उल्लंघन करने, रास्ता जाम करने और पुलिस पर पथराव करने के आरोप में केस दर्ज हुआ है.



एसएसपी अतुल शर्मा ने मामले में जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है. वहीं पेपर लीक मामले में विपक्षी दलों की ओर से हो रहे हमलों का राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि लोकसेवा आयोग में हुई कार्रवाई यह बताने के लिए काफी है कि योगी राज में गड़बड़ी करने वालों की असली जगह क्या है.  उन्होंने कहा कि योगी सरकार में सभी काम पारदर्शी ढ़ंग से हो रहे हैं. उन्होंने सपा और बसपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि पिछली सरकारों में सत्ता में बैठे लोग खुद गड़बड़ी कराते थे, इसलिए कोई कार्रवाई नहीं होती थी.

बताते चलें कि यूपीपीएससी की भर्ती परीक्षाओं में धांधली उजागर होने से नाराज एक हजार से ज्यादा अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को प्रयागराज स्थित यूपीपीएससी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों की मांग है कि परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के कार्यकाल में हुई भर्तियों को रद्द किया जाए और उनकी जांच सीबीआई से करवाई जाए.

गौरतलब है कि एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर आउट होने के मामले में यूपीपीएससी की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार को क्राइम ब्रांच और पुलिस की संयुक्त टीम ने गुरुवार को वाराणसी से गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद उन्हें पुलिस अभिरक्षा में साढ़े आठ बजे विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण लालचंद्र के आवास पर पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जिला जेल भेज दिया गया.

(सर्वेश दुबे की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-
Loading...

प्रयागराज: UP PSC के बाहर हंगामा, अंजू कटियार के कार्यकाल में हुईं भर्तियां रद्द करने की मांग

यूपी लोक सेवा आयोग के साइन बोर्ड से छेड़छाड़, शरारती तत्वों ने लिखा 'चिलम', 3 हिरासत में

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...