2016 में मथुरा में भड़की हिंसा मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई

Sarvesh Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 13, 2017, 10:19 PM IST
2016 में मथुरा में भड़की हिंसा मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई
2016 में मथुरा में भड़की हिंसा मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई
Sarvesh Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 13, 2017, 10:19 PM IST
मथुरा के जवाहरबाग में 2 जून 2016 को भड़की हिंसा मामले की इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज सुनवाई हुई. मामले की जांच कर रही सीबीआई ने आज हाईकोर्ट में सील बन्द लिफाफे में जांच की रिपोर्ट दाखिल की. कोर्ट ने जवाहरबाग काण्ड के मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव की डीएनए रिपोर्ट न पेश करने पर सीबीआई पर नाराजगी भी जतायी है. मामले की अगली सुनवाई 15 दिसम्बर को इलाहाबाद हाईकोर्ट में होगी. याचिकाकर्ता अश्विनी उपाध्याय, विजय पाल तोमर और अन्य की ओर से सीबीआई जांच की मांग को लेकर दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस डी.बी.भोंसले और जस्टिस यशवन्त वर्मा की डिवीजन बेंच ने ये आदेश दिया है.

जवाहरबाग काण्ड की सीबीआई जांच की मांग को लेकर दाखिल याचिकाकर्ता अश्विनी उपाध्याय सहित नौ लोगों की याचिकाओं पर कई महीनों तक चली लम्बी सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2 मार्च 2017 को सीबीआई जांच के आदेश दे दिये थे. जिसके बाद सीबीआई ने 20 मार्च 2017 को दो एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरु की थी. हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई के एक जांच अधिकारी पूरे घटना क्रम की जांच कर रहे हैं. जबकि सीबीआई के दूसरे जांच अधिकारी घटना के बाद सरकार की ओर बरती गई लापरवाही और उठाये गए कदमों की जांच कर रहे हैं.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर