• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत की जांच CBI से कराने की तैयारी, योगी सरकार कर सकती है गृह मंत्रालय से सिफारिश

महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत की जांच CBI से कराने की तैयारी, योगी सरकार कर सकती है गृह मंत्रालय से सिफारिश

Prayagraj News: उत्तर प्रदेश सरकार सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को लिख सकती है पत्र (File photo)

Prayagraj News: उत्तर प्रदेश सरकार सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को लिख सकती है पत्र (File photo)

Mahant Narendra Giri Death: महंत नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े मामले की जांच के लिए एक टीम का गठन कर दिया गया है. जिसे खुद ADG प्रेम प्रकाश और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ एसपी सिंह मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

दिल्ली. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bhartiya Akhara Parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की आत्महत्या (Narendra Giri Suicide Case) के मामले में पुलिस के जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. निरंजनी अखाड़े के महंत और भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई. मौत के मामले में तफ्तीश केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई (CBI) से करवाने के लिए जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) को खत लिखकर अनुशंसा कर सकती है. सूत्रों के मुताबिक, अगले दो दिनों के अंदर ही योगी सरकार इस मामले की सीबीआई जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिख सकती है.

दरअसल जिस तरह से सोमवार 20 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरी का शव उनके कमरे में भगवा रंग के धोती वाले फंदे से लटका हुआ पाया गया था. बाद में करीब 8 पन्नों का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ. इसके बाद ये बातें सामने आई कि उन्होंने आत्महत्या की है, लेकिन एक संत की आत्महत्या करने का मामला किसी को विश्वास नहीं हो पा रहा है.

सुसाइड नोट पर उठ रहे हैं सवाल?
महंत नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े मामले की जांच के लिए एक टीम का गठन कर दिया गया है, जिसे खुद ADG प्रेम प्रकाश और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ एसपी सिंह मॉनिटरिंग कर रहे हैं. क्योंकि कई डॉक्टरों के पैनल गठित कर पोस्टमार्टम कराया जाएगा, उसके बाद ही मौत की असली वजह पता किया जा सकता. फिलहाल पुलिस की टीम महंत नरेंद्र गिरी के मोबाइल फोन को भी अपने कब्जे में लेकर तफ़्तीश कर रही है कि किन-किन लोगों से ज्यादा बातचीत होती थी और मौत के पहले आखि‍री के पांच दिनों के दौरान किन लोगों से ज्यादा बातचीत हुई है. आंनद गिरी और उनके गुरु महंत नरेंद्र गिरी के बीच तल्खी के मसले पर भी पुलिस की टीम आगे तफ्तीश कर रही है.

पंचक के कारण आज नहीं होगा पोस्टमार्टम
सूत्रों के मुताबिक हिन्दू धर्म और संतों की मान्यता और परंपरा के मुताबिक, मंगलवार 21 सितंबर को पंचक तिथि होने की वजह से महंत नरेंद्र गिरी का पोस्टमार्टम नहीं होगा. दरअसल धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद एवं रेवती हिन्दू धर्म में पांच नक्षत्रों का एक समूह है. धनिष्ठा के प्रारंभ होने से लेकर रेवती नक्षत्र के अंत समय को पंचक कहते हैं. मंगलवार को शुरू होने वाला पंचक अग्नि पंचक कहलाता है. ये अशुभ होता है. इस पंचक में किसी भी तरह का काम अशुभ माना गया है. इसलिए महंत नरेंद्र गिरी का पोस्टमार्टम बुधवार को होने के बाद अंतिम संस्कार संतों की परंपरा के मुताबिक को सम्पन्न किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज