Home /News /uttar-pradesh /

CBI करा रही आनन्द गिरि, आद्या तिवारी और संदीप की साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी, जानिए क्या है ये?

CBI करा रही आनन्द गिरि, आद्या तिवारी और संदीप की साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी, जानिए क्या है ये?

Mahant Death Case: तीनों आरोपियों से सीबीआई प्रयागराज पुलिस लाइन के गंगा अतिथि गृह में पूछताछ कर रही है.

Mahant Death Case: तीनों आरोपियों से सीबीआई प्रयागराज पुलिस लाइन के गंगा अतिथि गृह में पूछताछ कर रही है.

Mahant Narendra Giri Death Case: सीबीआई ने सुबह 9 बजकर 10 मिनट पर नैनी सेंट्रल जेल पहुंचकर तीनों आरोपियों आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और संदीप तिवारी की कस्टडी रिमांड ले ली. प्रयागराज पुलिस लाइन में पूछताछ चल रही है.

प्रयागराज. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत मामले (Mahant Narendra Giri Death Case) में सीबीआई (CBI) जांच से जुड़ी बड़ी खबर आ रही है. दरअसल सीबीआई ने रिमांड पर लिए आरोपियों से पूछताछ शुरू कर दी है. सूत्रों के हवाले से पता चला है कि सीबीआई आरोपियों की साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी भी करा रही है. जानकारी के अनुसार साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी में व्यक्त‍ि की मौत से पहले के दो हफ्तों के बारे में पता किया जाता है. इसमें ये पता लगाने की कोश‍िश की जाती है कि मृतक दो हफ्ते पहले किस ढंग से सोच रहा था? कहां वक्त बिताया था? किनसे बात की थी? अगर बात की तो किस तरह की बात की थी? मरने वाले का लोगों के साथ व्यवहार कैसा था? क्या मरने वाले में सुसाइडल टेंडेंसी भी नजर आ रही थी?

मामले में गिरफ्तार आनन्द गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और संदीप तिवारी की साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी करायी जा रही है. मठ में भी मौजूद लोगों पर साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी से पूछताछ हो रही है. सीबीआई टीम के साथ पूछताछ के दौरान साइकोलॉजिस्ट भी मौजूद हैं. सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर विप्लव चौधरी और मुख्य जांच अधिकारी एडिशनल एसपी के एस नेगी ये पूछताछ कर रहे हैं.

इससे पहले सीबीआई टीम ने आज सुबह 9 बजकर 10 मिनट पर नैनी सेंट्रल जेल पहुंचकर तीनों आरोपियों आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और संदीप तिवारी की कस्टडी रिमांड ले ली. तीनों आरोपियों को प्रिजन वैन में सीबीआई सुबह 10 बजे प्रयागराज पुलिस लाइन पहुंची. प्रयागराज पुलिस लाइन में उन्हें गंगा अतिथि गृह में रखा गया है. जहां पर सीबीआई के अफसरों ने सबसे पहले उन्हें नाश्ता कराया और उन्हें बैठने को कहा है.

सीबीआई की टीम ने महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए सवालों की एक लिस्ट भी तैयार की है. उसी लिस्ट के आधार पर पहले तीनों आरोपियों से सीबीआई अलग-अलग पूछताछ करेगी. उसके बाद तीनों को एक साथ बैठाकर क्रास एग्जामिनेशन भी करेगी. सीबीआई उस कथित वीडियो के बारे में भी पूछताछ कर सकती है, जिसकी सीडी का जिक्र महंत नरेंद्र गिरि को ब्लैकमेल करने के लिए किया जा रहा था और उन्होंने अपने सुसाइड नोट में भी उस सीडी का जिक्र किया है.

महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में लिखा है कि आनंद गिरी कंप्यूटर से एक महिला या किसी लड़की के साथ उनका वीडियो तैयार किया है, जो वह वायरल कर उनको बदनाम कर सकता है. इसके साथ ही सीबीआई इस सीडी का कनेक्शन भी तलाशेगी कि आखिर इस मामले और कौन-कौन लोग शामिल हो सकते हैं?

सीबीआई जरूरत पड़ने पर आनंद गिरि को श्री मठ बाघम्बरी गद्दी लेकर भी जाएगी. इसके साथ ही साथ जरूरत पड़ने पर हरिद्वार भी ले जाकर पूछताछ कर सकती है क्योंकि महंत नरेंद्र गिरि के फोन कॉल्स में करीब 35 लोगों के नाम आए थे, जिनमें हरिद्वार के कुछ बिल्डरों के भी नाम भी सामने आए हैं. उस कनेक्शन को भी सीबीआई तलाश करेगी.

सीबीआई आनंद गिरी और नरेंद्र गिरी के बीच संपत्ति विवाद को लेकर भी अपनी पूछताछ करेगी. इसके साथ ही साथ बड़े हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या प्रसाद तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी का इस पूरे मामले से क्या कनेक्शन है? इसकी भी पड़ताल सीबीआई करेगी.

प्रयागराज के सीजीएम कोर्ट से 7 दिनों की मिली रिमांड के मुताबिक 4 अक्टूबर की शाम 5:00 तक सीबीआई तीनों आरोपियों को अपने साथ रख कर अलग-अलग स्थानों पर ले जाकर उनसे पूछताछ कर सकती है. जिसके बाद उनका मेडिकल कराकर 4 अक्टूबर को ही शाम 5:00 बजे उन्हें नैनी सेंट्रल जेल में सीबीआई को दाखिल करना होगा. सीबीआई इस दौरान थर्ड डिग्री का इस्तेमाल नहीं कर सकेगी क्योंकि कोर्ट ने साफ तौर पर थर्ड डिग्री पर रोक लगाई है. महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के मामले में तीनों आरोपियों से सीबीआई के जांच अधिकारियों के पूछताछ करने के साथ ही मुख्य जांच अधिकारी के एस नेगी और सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर विप्लव चौधरी भी पूछताछ करेंगे.

तीनों आरोपियों को पुलिस लाइन में रखे जाने के बाद मेन गेट बंद कर दिया गया है. मेन गेट पर सुरक्षा कर्मी तैनात कर दिए गए हैं. पुलिस लाइन परिसर में सीबीआई की पूछताछ के चलते उन्हीं लोगों को प्रवेश दिया जा रहा है, जो पुलिसकर्मी है या फिर पुलिस लाइन परिसर के अंदर रहते हैं. इसके अलावा पुलिस ने मीडिया के साथ ही अन्य बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई हुई है.

Tags: Allahabad news, CBI, Mahant Narendra Giri Death Investigation, Prayagraj News, UP news updates

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर