लाइव टीवी

बसपा प्रत्याशी ने लगाया आरोप, कुल वोटों से 4 हजार अधिक वोटों की कराई गई गिनती

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 4, 2019, 9:04 PM IST
बसपा प्रत्याशी ने लगाया आरोप, कुल वोटों से 4 हजार अधिक वोटों की कराई गई गिनती
कुल पड़े वोटों से 4 हजार अधिक वोटों की कराई गई गिनती, BJP सांसद के निर्वाचन को दी गई चुनौती. (फाइल फोटो)

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रत्याशी त्रिभुवन राम ने हाईकोर्ट में चुनाव याचिका दाखिल कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद वी पी सिंह सरोज के निर्वाचन को रद्द किए जाने की मांग की है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले की सुरक्षित मछली शहर संसदीय सीट से भाजपा सांसद वीपी सिंह सरोज के निर्वाचन को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती दी गई है. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रत्याशी त्रिभुवन राम ने हाईकोर्ट में चुनाव याचिका दाखिल कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद वी पी सिंह सरोज के निर्वाचन को रद्द किए जाने की मांग की है. याचिका में आरोप लगाया है कि 12 मई 2019 को हुए मतदान में कुल जितने वोट पड़े थे, उससे 4 हजार 128 से ज्यादा वोटों की गिनती अधिकारियों ने मतगणना के दौरान कराई है. इस तरह से मतगणना में गड़बड़ी करके उन्हें हराया गया है.

चुनाव याचिका में उन्होंने ईवीएम के वोटों की गिनती में गड़बड़ी का आरोप लगाया है. त्रिभुवन राम ने चुनाव याचिका में कहा है कि शाम पांच बजे तक उन्हें भारी मतों से जीता हुआ बताया जा रहा था, लेकिन रात नौ बजे उन्हें 181 वोटों के अंतर से पराजित घोषित कर दिया गया.

6 या 7 जुलाई को हाईकोर्ट में हो सकती है सुनवाई
गौरतलब है कि चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद भाजपा प्रत्याशी को 4,88,397 मत मिले थे, जबकि बसपा प्रत्याशी त्रिभुवन राम को 4,88,216 वोट मिले थे. बसपा प्रत्याशी त्रिभुवन राम की चुनाव याचिका पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय में 6 या 7 जुलाई को सुनवाई हो सकती है.

2014 में बीजेपी ने इस सीट पर 15 साल बाद की वापसी
मछलीशहर लोकसभा सीट के लिए छठवें चरण में 12 मई को 53.54 फीसदी मतदान हुआ था. लोकसभा 2014 के चुनाव में भाजपा के राम चरित्र निषाद ने 23 फीसदी मत हासिल किया था. इस सीट पर 2014 से पहले 15 सालों तक बारी-बारी से एसपी और बीएसपी ने राज किया, लेकिन 2014 आम चुनाव में मोदी लहर में बीजेपी ने यहां वापसी कर ली. इससे पहले बीजेपी लगातार दो बार 1996 और 1998 में यहां कब्जा जमा चुकी है, लेकिन 1998 के बाद बीजेपी को यहां जीत नसीब नहीं हुई थी. पर अब बीजेपी ने 2014 में यहां दोबारा वापसी कर ली.

22.7 प्रतिशत है अनुसूचित जाति की आबादी
Loading...

साल 2011 के जनगणना के अनुसार मछलीशहर तहसील की कुल जनसंख्या 7,36,209 थी. इनमें 3,75,252 महिलाएं और 7,36,209 पुरुष थे. हालांकि मछलीशहर संसदीय क्षेत्र की कुल आबादी का 22.7 प्रतिशत यानी 166,766 लोग अनुसूचित जाति से ताल्लुक रखते हैं. मछलीशहर लोकसभा सीट के अंतर्गत पांच विधानसभा क्षेत्र मछलीशहर, मरियाहू, जाफराबाद, केराकत और पिंडरा आता है.

रिपोर्ट – सर्वेश दुबे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 8:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...