पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, ये है मामला

नसीमुद्दीन के खिलाफ सड़क जाम कर यातायात बाधित करने का मुकदमा दर्ज है, जिसमें वह अदालत में हाजिर नहीं हो रहे हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 10:50 PM IST
पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, ये है मामला
नसीमुद्दीन सिद्दीकी (File Photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 10:50 PM IST
बसपा सरकार में मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी मुश्किल में फंस गए हैं. एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ गैर जमानती वारंट (एनबीडब्लू) और कुर्की का आदेश दिया है. नसीमुद्दीन के खिलाफ सड़क जाम कर यातायात बाधित करने का मुकदमा दर्ज है, जिसमें वह अदालत में हाजिर नहीं हो रहे हैं. कई तारीखों पर वारंट जारी होने के बाद भी जब उन्होंने कोर्ट में सरेंडर नहीं किया तो स्पेशल कोर्ट जज पवन कुमार तिवारी ने शनिवार को उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया.

इस मुकदमे की सुनवाई स्पेशल कोर्ट में चल रही है. इस मामले में रामअचल राजभर, नौशाद अली, अतर सिंह राव और मेवालाल गौतम शनिवार को स्पेशल कोर्ट में हाजिर हुए. लेकिन नसीमुद्दीन सिद्दीकी कोर्ट में नहीं आए. जिस पर स्पेशल कोर्ट जज पवन कुमार तिवारी ने गैर जमानती वारंट के साथ कुर्की का आदेश दे दिया. कोर्ट ने नसीमुद्दीन को पांच सितंबर को हाजिर होने का निर्देश दिया है. प्रदेश सरकार की ओर से एडीजीसी राजेश गुप्ता और एसपीओ हरिओंकार सिंह ने पक्ष रखा.

ये है मामला
आरोप है कि बसपा के चार पांच हजार कार्यकर्ता और पदाधिकारी बिना अनुमति के सड़क पर उतर आए और बीजेपी के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह के एक बयान का विरोध करते हुए विधानसभा मार्ग को जाम कर दिया. इससे यातायात प्रभावित हुआ. एसआई विजय कुमार पांडेय ने बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और अन्य लोगों के खिलाफ 21 जुलाई 2016 को लखनऊ के हजरतगंज थाने में नामजद मुकदमा दर्ज कराया था.

ये भी पढ़ें--

...जब शीला दीक्षित को यूपी सरकार ने 23 दिन तक जेल में रखा था

इंदिरा-सोनिया के बाद कांग्रेस की सबसे मजबूत महिला नेता, ऐसा था राजनीतिक सफ़र
First published: July 20, 2019, 10:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...