लाइव टीवी

COVID-19: शब-ए-बारात पर कोरोना के खात्मे के लिए मांगी गई दुआएं, कब्रिस्तानों की बजाय घरों में मना पर्व
Allahabad News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2020, 1:06 AM IST
COVID-19: शब-ए-बारात पर कोरोना के खात्मे के लिए मांगी गई दुआएं, कब्रिस्तानों की बजाय घरों में मना पर्व
लॉकडाउन के चलते घरों में कुछ इस तरह सब-ए-बारात मना रहे लोग

Lockdown के चलते मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कब्रिस्तान न जाकर घरों के आंगन में ही कब्रों के प्रतीक बनाकर शमा रोशन की और इस पर अपनी श्रद्धा के फूल भी चढ़ाये. लोगों ने शब-ए-बारात के पर्व पर देश से कोरोना के खात्मे के लिए विशेष दुआयें मांगी है....

  • Share this:
प्रयागराज. महामारी (Pandemic) कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) है ऐसे में शब-ए-बारात (Mid-Sha'ban) का पर्व लोग अपने घरों में पूरी अकीदत और एहतराम के साथ मना रहे हैं. लॉकडाउन के चलते कब्रिस्तानों (Cemeteries) और दरगाहों पर पहले से ही ताले पड़े हुए हैं. मुस्लिम धर्म गुरुओं ने शब-ए-बारात पर लोगों को घरों पर रहकर इबादत करने और अपने पूर्वजों के लिए दुआयें मांगने की अपील की थी. जिसका लोगों पर असर भी दिख रहा है. मुस्लिम समुदाय पूरी तरह से लॉकडाउन का पालन करते हुए यह पर्व अकीदत के साथ अपने घरों में ही मना रहा है.

सब-ए-बारात
धर्मगुरुओं ने भी सब-ए-बारात घर पर मनाने की थी अपील


पूर्वजों की कब्रों के प्रतीक पर शमा रोशन
मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कब्रिस्तान न जाकर घरों के आंगन में ही कब्रों के प्रतीक बनाकर शमा रोशन की और इस पर अपनी श्रद्धा के फूल भी चढ़ाये. ऐसे परिवारों का मानना है कि वे लॉकडाउन का पालन करते हुए शब-ए-बारात के पर्व को अपनी पूरी अकीदत के साथ मना रहे हैं. शहर के पुराने इलाके दारा शाह अजमल में ऐसे ही एक परिवार ने अपने पूर्वजों की कब्रों के प्रतीक पर शमा रोशन की और उनकी रूह की शान्ति के लिए दुआयें मांगते हुए तस्वीर साझा की है. परिवार के सदस्यों का कहना है कि लॉकडाउन का पालन करते हुए वे अपनी धार्मिक भावनाओं का इजहार इस तरह से भी कर सकते हैं. परिवार के सदस्य मानते हैं कि कोरोना के खतरे को देखते हुए कब्रिस्तान और दरगाहों पर भीड़ न लगायी जाये और इस तरह से अपने-अपने घरों में इबादत और अपने बुजुर्गों के लिए दुआयें मांगी जाये.



सब-ए-बारात
तस्वीरें की साझा




मुस्तैद है पुलिस
लोगों ने शब-ए-बारात के पर्व पर देश से कोरोना के खात्मे के लिए विशेष दुआयें मांगी है. वहीं पुलिस प्रशासन ने भी शब-ए-बारात के पर्व पर लोगों से घरों पर ही रह कर इबादत करने की अपील की है. आईजी केपी सिंह का कहना है कि धर्म गुरुओं की अपील का सकारात्मक असर मुस्लिम समाज में देखने को मिला है. लोग कब्रिस्तानों और दरगाहों में न जाकर अपने घरों में ही इबादत कर रहे हैं. आईजी का कहना है कि पुलिस शब-ए-बारात की रात चेकिंग के लिए पूरी तरह से मुस्तैद रहेगी.

ये भी पढ़ें- COVID-19: श्मसान घाटों पर संक्रमण से बचाव के नहीं हैं पर्याप्त इंतजाम, सोशल डिस्टेंसिंग का भी नहीं हो रहा पालन

 
First published: April 9, 2020, 11:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading