COVID-19: कोरोना के चलते कुटिया छोड़कर मचान पर चढ़े त्यागी बाबा का अनूठा हठयोग...
Allahabad News in Hindi

COVID-19: कोरोना के चलते कुटिया छोड़कर मचान पर चढ़े त्यागी बाबा का अनूठा हठयोग...
Lockdown के चलते संगम के तट पर सन्नाटा पसरा है.

त्यागी बाबा बताते हैं कि उन्होंने कभी ऐसा समय नहीं देखा जबकि संगम (sangam) के घाटों पर ऐसा सन्नाटा पसरा रहा हो. उनका कहना है कि उनके जीवन काल मे यह पहली ऐसी घटना है जबकि लोग कोरोना महामारी (pandemic coronavirus) के चलते घरों में कैद होकर रह गए हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
 प्रयागराज. महामारी (Pandemic) कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देश और दुनिया में कोहराम मचा है. ऐसे में कोरोना के खात्मे के लिए संगम नगरी प्रयागराज में एक बाबा का अनूठा हठयोग चल रहा है. ये बाबा संगम के किनारे अपने आश्रम से निकल कर कोरोना को मात देने के लिए एक मचान पर बैठ गए हैं. उनका कहना है कि वो पिछले 25 दिनों से हठयोग कर रहे हैं. उनका विश्वास है कि उनके इस हठयोग से पूरी दुनिया को कोरोना (COVID-19) के खतरे से निजात मिलेगी और मानव जाति का भी कल्याण होगा. हालांकि बाबा के हठयोग से कोरोना का खत्मा हो न हो वो जरुर सोशल डिस्टेंसिंग (Social distancing) बनाए रखने से इसके संक्रमण से काफी हद तक बचे रहेंगे.

कभी ऐसा समय नहीं देखा!
कोरोना को लेकर हठयोग करने वाले ये हैं त्यागी बाबा. त्यागी बाबा पिछले 35 वर्षों से संगम (sangam) के तट पर कुटिया बनाकर रहते हैं. लेकिन कोरोना की महामारी आने के बाद बाबा ने आश्रम में ही बांस और बल्लियों के सहारे लगभग 15 फीट ऊंचा मचान तैयार कर लिया है. इसी पर बैठकर बाबा दिन-रात कठिन साधना और हठयोग कर रहे हैं. त्यागी बाबा बताते हैं कि उन्होंने कभी ऐसा समय नहीं देखा जबकि संगम के घाटों पर ऐसा सन्नाटा पसरा रहा हो. उनका कहना है कि उनके जीवन काल मे यह पहली ऐसी घटना है जबकि लोग कोरोना महामारी के चलते घरों में कैद होकर रह गए हैं. बाबा कोरोना से बचाव के लिए कठिन साधना और हठयोग तो कर ही रहे हैं, साथ में पीएम मोदी की अपील के मुताबिक खुद सोशल डिस्टैंसिंग का पालन और मास्क का भी प्रयोग कर रहे हैं.

बाबा मचान पर 24 घंटे रहते हैं, वे केवल एक बार ही दैनिक क्रिया के लिए नीचे उतरते हैं. हठयोगी त्यागी बाबा सूर्य देव, आरोग्य के देवता हनुमान जी और नगर देवता वेणी माधव से कोरोना के खात्मे के लिए प्रार्थना भी कर रहे हैं. हठ योगी होने के नाते वे योग की कई मुद्राओं में भी कई बार नजर आते हैं. शिव को प्रसन्न करने के लिए कभी डमरु बजाते हैं, तो कभी भगवान विष्णु को खुश करने के लिए शंखनाद करते नजर आते हैं. त्यागी बाबा को पूरा भरोसा है कि तपोबल में ऐसी शक्ति है जिससे कोरोना की महामारी को समाप्त किया जा सकता है. बता दें कि त्यागी बाबा पहले भी कई बार हठयोग कर लोगों के कौतुहल का विषय बन चुके हैं. बाबा इससे पहले अपने आश्रम के पीपल के पेड़ पर कई महीनों कर उल्टा लटककर साधना और हठयोग कर चुके हैं. कुम्भ और माघ मेले के दौरान भी त्यागी बाबा लोगों को कई तरह से हठयोग करते दिखते हैं. लेकिन इस बार कोरोना के खात्मे को लेकर उनके द्वारा किया जा रहा हठयोग लोगों के बीच खासी चर्चा का विषय तो बना ही हुआ है मीडिया में भी सुर्खियां बटोर रहा है.



ये भी पढ़ें- Lockdown: प्रियंका गांधी की PM मोदी से अपील 'भगवान के लिए मजदूरों की मदद कीजिए'


First published: April 15, 2020, 6:22 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading