Covid-19: प्रयागराज में अनुमति के बाद भी पुलिस बंद करवा रही आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, व्यापारी परेशान

इस दौरान पुलिस द्वारा किसी भी दुकान को बंद नहीं कराया जायेगा और न ही दुकानों का चालान काटा जायेगा. (सांकेतिक फोटो)

इस दौरान पुलिस द्वारा किसी भी दुकान को बंद नहीं कराया जायेगा और न ही दुकानों का चालान काटा जायेगा. (सांकेतिक फोटो)

एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा (Ashutosh Mishra) के मुताबिक, व्यापारियों के साथ हुई बैठक में यह तय किया गया है कि गल्ले की दुकानें सुबह सात से शाम सात बजे तक खुलेंगी.

  • Share this:

प्रयागराज. प्रयागराज (Prayagraj) में बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन (Lockdown) में आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को खोलने की अनुमति के बावजूद पुलिस द्वारा जबरन दुकानें बंद कराये जाने की लगातार शिकायतें मिल रही हैं. व्यापारियों की ओर से लगातार मिल रही ऐसी शिकायतों पर प्रशासन ने व्यापारियों के साथ बैठक के बाद सप्लाई चेन बनाये रखने की बात कही है. प्रशासन की ओर से कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी तरह से आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई चेन बाधित नहीं होने दी जायेगी. लॉकडाउन के दौरान भी लोगों को जरुरी सामान मिलता रहे इसके लिए आवश्यक सेवाओं से जुड़ी दुकानों के खोले जाने के समय भी निर्धारित कर दिया गया है. एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा (Ashutosh Mishra) के मुताबिक, व्यापारियों के साथ हुई बैठक में यह तय किया गया है कि गल्ले की दुकानें सुबह सात से शाम सात बजे तक खुलेंगी.

इस दौरान पुलिस द्वारा किसी भी दुकान को बंद नहीं कराया जायेगा और न ही दुकानों का चालान काटा जायेगा. हांलाकि, दुकानों पर मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराने की जिम्मेदारी दुकानदारों की ही होगी. वहीं, थोक सब्जी मंडी सुबह छह बजे से 11 बजे तक खुलेगी. लेकिन इस दौरान फुटकर बिक्री नहीं होगी. कंटेनमेंट जोन में तय किए गए किराना स्टोर से केवल होम डिलिवरी की अनुमति दी गई है. इन इलाकों में दुकानें नहीं खुलेंगी. जबकि ठेले वाले फल और सब्जियों को फेरी लगाकर सुबह छह बजे से 11 बजे तक कंटेनमेंट में बेच सकते हैं.

Youtube Video

शिकायत कर स्थिति स्पष्ट करने की भी मांग की थी
वहीं, डिस्ट्रीब्यूटर्स भी दुकानों पर सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक सामानों की सप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें किसी वाहन पास की जरुरत नहीं होगी. डिस्ट्रीव्यूटर्स द्वारा ही अपने कर्मचारियों को अपने पैड पर उनके बारे में लिखकर देना होगा. गौरतलब है कि शहर के कई इलाकों में लगातार पुलिस द्वारा किराना स्टोर को सुबह 11 बजे बंद करा दिया जा रहा था और कई दुकानदारों का चालान भी काटा गया था. जिसको लेकर व्यापारी संगठनों ने डीएम से शिकायत कर स्थिति स्पष्ट करने की भी मांग की थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज