प्रयागराज: बैंक ऑफ इंडिया के चेस्ट करेंसी से करोड़ों की हेराफेरी

मामला बैंक ऑफ इंडिया की सुलेमसराय शाखा का है. बैंक के प्रबंधक विवेक गुप्ता ने धूमनगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई है कि तीन जुलाई 2019 को बैंक की ऑडिट चल रहा था.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 8, 2019, 2:01 PM IST
प्रयागराज: बैंक ऑफ इंडिया के चेस्ट करेंसी से करोड़ों की हेराफेरी
चेस्ट करेंसी से करोड़ों की हेराफेरी
ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 8, 2019, 2:01 PM IST
प्रयागराज में सोमवार को बैंक ऑफ इंडिया के चेस्ट से 4.25 करोड़ रुपये के गबन का मामला सामने आया है. रुपये गबन करने का आरोप बैंक के ही एक कर्मचारी पर लगा है. बैंक प्रबंधक ने विभागीय जांच के बाद धूमनगंज थाने में चेस्ट करेंसी इंचार्ज समेत तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और गबन मुकदमा दर्ज करवाया है.

मामला बैंक ऑफ इंडिया की सुलेमसराय शाखा का है. बैंक के प्रबंधक विवेक गुप्ता ने धूमनगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई है कि तीन जुलाई 2019 को बैंक की ऑडिट चल रहा था. इस दौरान करेंसी चेस्ट के आंतरिक परीक्षण के दौरान चार करोड़ 25 लाख की अनियमितता पाई गई. विवेक गुप्ता के मुताबिक जांच में पाया गया कि बैंककर्मी वशिष्ठ कुमार ने एसके मिश्र नाम के व्यापारी और उसके बेटे संजू मिश्र को करोड़ों रुपये उधार दिए हैं. बदले में उनसे ब्याज ले रहा था.

इस धोखाधड़ी की जानकारी होने के बाद बैंक प्रबंधक ने धूमनगंज थाने में व्यापारी पिता-पुत्र और बैंककर्मी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

(रिपोर्ट: सर्वेश दूबे)

ये भी पढ़ें:

मौत का यमुना एक्सप्रेसवे: 6 महीने में 94 सड़क हादसे, 95 की गई जान

मथुरा में दिखी सपना चौधरी की दीवानगी, डांस देखने पहुंचा 80 साल का बुजुर्ग
Loading...

आगरा बस हादसा: ऐन वक्त पर बदला गया था बस का रूट, ड्राइवर रास्ते से था अनजान

आगरा यमुना एक्सप्रेसवे हादसा: CM योगी ने गठित की जांच कमेटी, 24 घंटे में रिपोर्ट तलब

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 2:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...