दंडी संन्यासियों की मांग- UP में योगी सरकार की तरह दूसरे राज्य भी गोकशी पर लाएं कानून
Allahabad News in Hindi

दंडी संन्यासियों की मांग- UP में योगी सरकार की तरह दूसरे राज्य भी गोकशी पर लाएं कानून
अखिल भारतीय दंडी संन्यासी परिषद की प्रयागराज के अरैल मुख्यालय में हुई कार्यसमिति की बैठक

अखिल भारतीय दंडी संन्यासी परिषद की प्रयागराज (Prayagraj) के अरैल मुख्यालय में हुई कार्यसमिति की बैठक में दंडी संन्यासियों ने सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के इस फैसले को करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का सम्मान बताया है.

  • Share this:
प्रयागराज. गोवंश संरक्षण के लिए योगी सरकार (Yogi Government) द्वारा लाए गए गोवध निवारण संशोधन अध्यादेश 2020 का अखिल भारतीय दंडी संन्यासी परिषद (Akhil Bhartiya Dandi Sanyasi Parishad) ने स्वागत  किया है. अखिल भारतीय दंडी संन्यासी परिषद की प्रयागराज के अरैल मुख्यालय में हुई कार्यसमिति की बैठक में दंडी संन्यासियों ने सीएम योगी के इस फैसले को करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का सम्मान बताया है.

1966 में गोहत्या बंद करने की शुरुआत हुई

परिषद के संरक्षक स्वामी महेशाश्रम महाराज ने कहा है कि वर्ष 1966 में धर्म सम्राट करपात्री जी महाराज के नेतृत्व में देश में गोहत्या बंद करने की शुरुआत हुई थी. जिसके बाद गोहत्या को रोकने के और गो-संवर्धन और संरक्षण के लिए दंडी संन्यासी परिषद ने लम्बे समय तक संघर्ष भी किया है. सूबे का मुखिया एक संन्यासी के बनने के बाद आज कई दशकों की साधु संतों और समानत धर्मावलम्बियों की यह मांग पूरी हुई है.



यूपी की तर्ज पर दूसरे राज्य बनाएं कानून
परिषद के संरक्षक स्वामी महेशाश्रम महाराज ने कोरोना काल में सीएम योगी के कार्यों की भी सराहना की है. उन्होंने मांग की है कि यूपी की ही तर्ज पर अन्य राज्यों में गो-संवर्धन और संरक्षण के लिए ऐसे कानून बनने चाहिए. दंडी संन्यासी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी ब्रह्माश्रम महाराज ने कहा कि सीएम योगी संत और सीएम के साथ ही साथ गो-सेवक भी हैं. उन्होंने गोरक्षा के लिए जो कदम उठाये हैं, उसका पूरा संत समाज और दंडी सन्यासी भी स्वागत कर रहे हैं.

अभियान को मजबूत करेंगे संन्यासी

उन्होंने कहा है कि दंडी संन्यासी भी गो रक्षा और संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करेंगे. इसके साथ ही गोवध की सूचना मिलने पर स्थानीय प्रशासन और राज्य सरकार को इसकी जानकारी देकर इस अभियान को और मजबूत करेंगे. इस मौके पर दंडी सन्यासी परिषद ने अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास पर खुशी जतायी है. अखिल भारतीय दंडी संन्यासी परिषद ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ही राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया था. भगवान राम करोड़ों हिन्दुओं की आस्था हैं, जब राम मंदिर का शिलान्यास हो रहा है तो जल्द ही भव्य राम मंदिर निर्माण का सनातन धर्मियों का सपना भी साकार होगा. उन्होंने कहा है कि दंडी संन्यासी परिषद राम मंदिर निर्माण में अपनी सकारात्मक भूमिका अदा करेगा और पूरा सहयोग भी देगा.

ये भी पढ़ें:

UP Weather Forecast: नोएडा सहित 11 जिलों में आज रात आंधी-पानी की संभावना

69000 शिक्षक भर्ती मामले में एक और याचिका दाखिल, HC ने सरकार से मांगा जवाब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज