Assembly Banner 2021

कोरोना के चलते UP पंचायत चुनाव टालने की मांग HC से खारिज, जानिए हाईकोर्ट ने क्या कहा?

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना के बढ़ते केसों को लेकर पंचायत चुनाव टालने की याचिका खारिज कर दी है.   (सांकेतिक तस्वीर)

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना के बढ़ते केसों को लेकर पंचायत चुनाव टालने की याचिका खारिज कर दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

UP Panchayat Election: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते यूपी पंचायत चुनाव स्थगित करने की याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है.

  • Share this:
प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने उत्तर प्रदेश मे कोरोना संक्रमण (Corona Infection) प्रकोप को देखते हुए पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) टालने की मांग मे दाखिल जनहित याचिका खारिज कर दी है. कोर्ट ने कहा है कि सरकार ने चुनाव प्रचार की आचार संहिता जारी की है और हाईकोर्ट ने भी अन्य जनहित याचिका पर जरूरी कदम उठाने के निर्देश जारी किए हैं.

कोर्ट ने कहा कि कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने के जरूरी सावधानी बरती जायेगी. ऐसे में चुनाव स्थगित करने की मांग मे दाखिल जनहित याचिका पर हस्तक्षेप करने का कोई आधार नहीं है. यह आदेश मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति एस एस शमशेरी की खंडपीठ ने पंचायत चुनाव स्थगित करने की जनहित याचिका पर दिया है.

Youtube Video




याचिका में की गई थी ये मांग
याची अधिवक्ता अमित कुमार उपाध्याय व सौम्या आनंद दुबे का कहना था कि प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा है. 15 अप्रैल से पंचायत चुनाव होने जा रहा है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच चुनाव कराना जनहित के खिलाफ है. इससे भारी संख्या में लोगों के स्वास्थ्य को हानि हो सकती है. जो अनुच्छेद 21के जीवन के अधिकार का उल्लंघन है. कोर्ट ने इस उम्मीद के साथ हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया कि चुनाव में जरूरी सावधानी बरती जायेगी. कोर्ट ने कहा कि ऐसे में चुनाव स्थगित करने की मांग मे दाखिल जनहित याचिका पर हस्तक्षेप करने का कोई आधार नहीं है.

बता दें उत्तर प्रदेश में पहले चरण के बाद आज दूसरे चरण में भी नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. अप्रैल में चारों चरणों के मतदान संपन्न हो जाएंगे, जिसके बाद 2 मई को मतगणना होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज