Assembly Banner 2021

अदालत के आदेश के बाद भी नहीं हुई डॉ. कफील की रिहाई, अवमानना याचिका दाखिल करेंगे परिजन

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने रिहा करने का आदेश जारी किया था. (file photo)

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने रिहा करने का आदेश जारी किया था. (file photo)

अलीगढ़ में सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद डॉ. कफील खान (Dr Kafeel Khan) की मंगलवार को रिहाई नहीं हो सकी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 1, 2020, 11:30 PM IST
  • Share this:
मथुरा. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद डॉ कफील खान (Dr Kafeel Khan) की मंगलवार की रिहाई नहीं हुई. इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने खान पर लगाए गए एनएसए को गलत बताते हुए हटाते हुए तुरंत रिहाई के आदेश दिए थे. कफील के परिजनों का आरोप है कि कोर्ट के निर्णय के घंटों बाद भी कफील खान को मथुरा जेल से रिहा नहीं किया गया. कफील को फिर से किसी और इल्जाम में फंसाने की साजिश से आशंकित परिवार वालों ने हाई कोर्ट में अवमानना याचिका दायर करने का फैसला किया है. बता दें कि मंगलवार को ही इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति सौमित्र दयाल सिंह की पीठ ने कफील को तत्काल रिहा करने के आदेश दिये थे. पिछले साल अगस्त में कफील खान को गिरफ्तार किया गया था. कफील पर अलीगढ़ में भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगा था.

अवमानना याचिका दाखिल करेंगे परिजन
हाई कोर्ट के फैसले के बाद कफील के परिवार वाले मथुरा जेल पहुंचे, लेकिन अधिकारियों ने आदेश नहीं मिलने का हवाला देते हुए कफील को रिहा करने से इनकार कर दिया. कफील के भाई अदील खां ने न्यूज एजेंसी भाषा से बात करते हुए कहा, 'भाई को किसी और इल्जाम में फंसाने की साजिश हो रही है. अगर आज कफील को जेल से रिहा नहीं किया गया तो बुधवार को उच्च न्यायालय में अवमानना याचिका दाखिल करेंगे.'

 dr kafeel khan not released, court drder, kafeel khan, allahabad high court, high court drops nsa charges, dr kafeel khan latest news, CAA protest, nrc protest, इलाहाबाद हाई कोर्ट, इलाहाबाद उच्च न्यायालय, सीएए, एनआरसी, प्रयागराज, गोरखपुर न्यूज, डॉ कफील खान की नहीं हुई रिहाई, मथुरा जेल, डीएम मथुरा, जेलअधिक्षक मथुरा, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने NSA हटाया, रिहाई के आदेश
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कफील को लेकर मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाया. (Demo Pic)

मंगलवार को नहीं हुई रिहाई


अदील के मुताबिक, 'मथुरा जेल प्रशासन उच्च न्यायालय को नहीं बल्कि जिलाधिकारी के आदेश को मानता है, हाई कोर्ट की तरफ से आदेश जारी किये जाने के फौरन बाद ही मथुरा जेल प्रशासन, अलीगढ़ और मथुरा के जिलाधिकारी को ई-मेल के जरिये आदेश भेजकर कफील को फौरन रिहा करने को कहा गया था, लेकिन ये लोग आदेश नहीं मिलने का ढ़ोंग कर रहे हैं.'

अदालत का आदेश अभी तक नहीं मिला- जेल अधीक्षक
वहीं, दूसरी तरफ मथुरा के वरिष्ठ जेल अधीक्षक शैलेन्द्र कुमार मैत्रेय का कहना है कि उन्हें अदालत का आदेश अभी तक नहीं मिला है. कफील के वकील इरफान गाजी का आरोप है कि उन्होंने रिहाई के लिए डीएम से मिलने की कोशिश की लेकिन डीएम किसी बैठक का हवाला देकर नहीं मिले.



गौरतलब है कि डॉ कफील अगस्त 2017 में गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी से बड़ी संख्या में मरीज बच्चों की मौत के मामले से चर्चा में आये थे. डॉक्टर खान को पिछले साल दिसम्बर में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में सीएए के विरोध में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में इस साल जनवरी में गिरफ्तार किया गया था. उन्हें मथुरा जेल भेजा गया था. फरवरी में उन्हें अदालत से जमानत मिल गयी थी, मगर जेल से रिहा होने से ऐन पहले 13 फरवरी को उन पर रासुका के तहत कार्यवाही कर दी गयी थी, जिसके बाद से वह जेल में हैं.

ये भी पढ़ें: तीन दोस्त रहते थे साथ, किराये को लेकर हुई अनबन तो एक ने कर दी दो की हत्या

कफील की रासुका अवधि गत छह मई को तीन माह के लिये और बढ़ाया गया था. गत 16 अगस्त को अलीगढ़ जिला प्रशासन की सिफारिश पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने बीते 15 अगस्त को उनकी रासुका की अवधि तीन माह के लिये और बढ़ा दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज