गर्मी से बेहाल दुर्लभ प्रजाति का बारहसिंघा पहुंच गया गांव में, कुत्तों ने किया हमला
Allahabad News in Hindi

गर्मी से बेहाल दुर्लभ प्रजाति का बारहसिंघा पहुंच गया गांव में, कुत्तों ने किया हमला
बारहसिंघा के साथ पुलिसकर्मी और गांव वाले

वन विभाग की टीम दुर्लभ प्रजाति के बारहसिंघा (Reindeer) को गाड़ी में लादकर अपने साथ ले गई है.

  • Share this:
प्रयागराज. लॉकडाउन के दौरान एक दुर्लभ प्रजाति का बारहसिंघा (Reindeer) जंगल से भटकर मेजा थाना (Meja Police Station) क्षेत्र के परानीपुर गांव (Paranipur Village) में पहुंच गया. इससे गांव में गंगा नदी के तट पर कुछ अवारा कुत्तों ने घेर लिया और उस पर हमला कर दिया. ग्रामीणों ने बारहसिंघा को कुत्तों के चंगुल से मुक्त कराकर बमुश्किल उसकी जान बचाई. ग्रामीणों ने पूरे मामले की सूचना पुलिस और वन विभाग कर्मियों को भी तत्काल दे दी है. मौके पर पहुंची मेजा पुलिस ने भीड़ को हटाकर घायल बारहसिंघा को वन विभाग कर्मियों को सौंप दिया.

वन विभाग की टीम दुर्लभ प्रजाति के बारहसिंघा को गाड़ी में लादकर अपने साथ ले गई है. वन विभाग के कर्मियों ने घायल बारहसिंघा का प्राथमिक उपचार कराया और उसके खाने-पीने का भी इंतजाम किया है. फिलहाल, मेजा वन विभाग रेंज कार्यालय में दुर्लभ प्रजाति के बारहसिंघा को रखकर उसकी देखभाल की जा रही है. घायल बारहसिंघा नर बताया जा रहा है और उसकी हालत भी अब खतरे से बाहर बतायी जा रही है. गौरतलब है कि गर्मी के सीजन में पानी और भोजन की तलाश में कई बार जंगली जीव आबादी क्षेत्र में आ जाते हैं,  जिससे कई बार आवारा कुत्तों या फिर ग्रामीणों की नासमझी के चलते अपनी जान भी गंवानी पड़ती है. गर्मी के सीजन में हर बार जंगलों के अंदर वन विभाग की ओर से वन्यजीवों के पानी पीने के लिए इंतजाम किया जाता है.

गृह जिलों में भेजे जाने का सिलसिला लगातार दूसरे दिन भी जारी है
उधर प्रयागराज में फंसे छात्र-छात्राओं को उनके गृह जिलों में भेजे जाने का सिलसिला लगातार दूसरे दिन भी जारी है. सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश पर सोमवार देर शाम से छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजे जाने की कार्रवाई शुरु की गई थी. सोमवार रात 9 बजे से रात 2 बजे तक कई बसों के जरिए सैकड़ों छात्र-छात्राओं को उनके गृह जनपदों के लिए बसों से रवाना किया गया. अब मंगलवार की सुबह एक बार फिर से बसों के जरिए छात्र-छात्राओं को उनके घर भेजने की कार्रवाई की जा रही है.
ये भी पढ़ें- 



COVID-19: 3 मई के बाद भी स्कूल, मॉल रह सकते हैं बंद, फैसला अगले हफ्ते

कोरोना वायरस: MHA ने कहा- प्रवासी मजदूरों के लौटने से ग्रामीण क्षेत्र को खतरा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज