लाइव टीवी

CAA के खिलाफ हिंसा प्रदर्शनों में PFI का हाथ, प्रतिबंध की सिफारिश: डिप्टी सीएम मौर्य
Allahabad News in Hindi

Sarvesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 28, 2020, 2:02 PM IST
CAA के खिलाफ हिंसा प्रदर्शनों में PFI का हाथ, प्रतिबंध की सिफारिश: डिप्टी सीएम मौर्य
CAA के खिलाफ हिंसा प्रदर्शनों में PFI का हाथ

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने दिल्ली समेत यूपी के कई शहरों में हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर कहा कि यह प्रदर्शन आम नागरिक नहीं, बल्कि किराए पर लाए जा रहे लोग कर रहे हैं. रोजाना के भुगतान पर आंदोलन स्थल पर लोग लाए जाते हैं.

  • Share this:
प्रयागराज. नागरिक संशोधन कानून (CAA)  के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शनों को लेकर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने मंगलवार को बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है हिंसक प्रदर्शनों के पीछे साफ तौर पर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) का ही हाथ है. डिप्टी सीएम ने कहा है कि ईडी की जांच में पीएफआई के खिलाफ बेहद गम्भीर तथ्य सामने आये हैं. मौर्या ने सपा, बसपा और कांग्रेस जैसे राजनीतिक दलों को भी मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण के लिए लोगों को भड़काने का आरोप लगाया है.

SIMI का ही बदला हुआ रूप हैं PFI

डिप्टी सीएम ने कहा है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया आतंकी संगठन सिमी (SIMI) का ही बदला हुआ रूप है. सिमी पर प्रतिबंध लगाये जाने के बाद पापुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया के नाम से यह संगठन देश विरोधी गतिविधियां संचालित कर रहा है. डिप्टी सीएम ने कहा है कि ईडी की रिपोर्ट के बाद यह साफ हो गया है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने ही हिंसा करायी है. उन्होंने कहा कि पीएफआई आर्थिक मदद के ज़रिये खतरनाक खेल खेल रही है.



पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर लगेगा प्रतिबंध 



डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने कहा है कि उम्मीद है कि ईडी की रिपोर्ट के बाद पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर यूपी सरकार की प्रतिबंध लगाने की सिफारिश को जल्द केन्द्र सरकार मंजूर करेगी. वहीं फ्रंट की ओर से सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट में दाखिल अर्जी को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा है कि अदालत जाना हर व्यक्ति का संवैधानिक अधिकार है. लेकिन यूपी सरकार इस संगठन की ओर से दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट में पुरजोर ढंग से अपना पक्ष रखेगी.

किराए पर लाए गए प्रदर्शनकारी

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने दिल्ली समेत यूपी के कई शहरों में हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर कहा कि यह प्रदर्शन आम नागरिक नहीं, बल्कि किराए पर लाए जा रहे लोग कर रहे हैं. रोजाना के भुगतान पर आंदोलन स्थल पर लोग लाए जाते हैं. डिप्टी सीएम ने इसे अराजकता फैलाने की सुनियोजित साजिश करार दिया है. उन्होंने कहा कि सीएए की खिलाफत को देश विरोधी ताकतें हवा दे रही हैं. वहीं सीएए को लेकर हो रहे प्रदर्शनों में छेड़खानी व बाहरी दखल की आ रही शिकायतों पर उन्होंने कहा कि सरकार की इस पर पूरी नजर है.

ये भी पढ़ें:

मायावती बोलीं-अदनान सामी को पद्मश्री, तो PAK मुसलमान को पनाह क्यों नहीं?

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 2:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading