UP News: डिप्टी सीएम केशव मौर्य का वीडियो वायरल, प्रयागराज में दर्ज हुई FIR

डिप्टी सीएम केशव मौर्य का वीडियो वायरल (File photo)

डिप्टी सीएम केशव मौर्य का वीडियो वायरल (File photo)

एसएचओ (SHO) खुल्दाबाद मामले की जांच पड़ताल कर रहे है. उधर, यूपी सरकार (UP Government) ने भी जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 2:07 PM IST
  • Share this:
प्रयागराज. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) के एक बयान को सोशल मीडिया में तोड़ मरोड़ कर वायरल किया गया. वायरल हो रहे इस वीडियो में केशव किसान आंदोलन को एक साजिश बता रहे हैं. इस वीडियो में डिप्टी सीएम की कही बात को तोड़ मरोड़ कर गलत अर्थ में पेश किया जा रहा है. मामला सामने आने के बाद प्रयागराज में इलहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) के अधिवक्ता गौरव द्विवेदी ने आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कराते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है. एसएचओ खुल्दाबाद मामले की जांच पड़ताल कर रहे है. उधर, यूपी सरकार ने भी जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है.

केशव मौर्य के इस वायरल वीडियो में वह बोलते दिख रहे हैं किसान आंदोलन के नाम पर एक साजिश की जा रही है. वीडियो में पीएम नरेंद्र मोदी के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है. इससे पहले यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य कहा है कि दिल्ली में जो कुछ हुआ वह किसान नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा है कि कोई देशभक्त भी ऐसा नहीं कर सकता है. ऐसा कृत्य शैतान किस्म के और देश विरोधी लोग ही कर सकते हैं. डिप्टी सीएम ने कहा है कि किसान आंदोलन में हुई हिंसा और अराजकता की पूरा देश निंदा कर रहा है और मैं भी कड़े शब्दों में इसकी निंदा करता हूं.

Youtube Video


किसानों के बीच में घुसे अराजक तत्वों ने हिंसा की
उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों के प्रति पूरी तरह से समर्पित है और लगातार बातचीत का क्रम भी जारी था. ट्रैक्टर मार्च की किसानों ने अनुमति ली थी लेकिन शर्तों के साथ मार्च निकालने की अनुमति दी गई. किसानों के बीच में घुसे अराजक तत्वों ने उसका उल्लंघन किया और गुंडागर्दी दिखाते हुए सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का काम किया गया. डिप्टी सीएम ने कहा है कि इसके लिए किसानों को जिन लोगों ने आश्वासन दिया, वह लोग ही पूरी तरह से इसके लिए जिम्मेदार हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज